मैं तो यमुना का पूजन करुँगी

मैं तो यमुना का पूजन करुँगी
अपने जीवन को चन्दन करूगी।।

बाजे कण कण में कान्हा की बंसी
मन में भगतो के भर्ती है भगती
मैं भी कान्हा का सुमिरन करुंगी
अपने जीवन को चन्दन करूगी।।

कैसी किरपा मेरी यमुना माँ की
यम लगाते न भगतो की फांसी ,
तोड़ जग के ये बंधन मैं दूंगी
अपने जीवन को चन्दन करूगी।।

यमन मैया का मुखड़ा सलोना
इन के मन में विराजे है मोहन
कान्हा भजनों से वंदन करुँगी
अपने जीवन को चन्दन करूगी।।

Main To Yamuna Ka Pujan Karungi
Apane Jivan Ko Chandan Karungi

Baje Kan Kan Mein Kanha Ki Bansi
Man Mein Bhagato Ke Bharti Hai Bhagati
Main Bhi Kanha Ka Sumiran Karungi
Apne Jivan Ko Chandan Karungi

Kaisi Kirpa Meri Yamuna Man Ki
Yam Lagate Na Bhagato Ki Phansi
Tod Jag Ke Ye Bandhan Main Dungi
Apne Jeevan Ko Chandan Karungi
Yaman Maiya Ka Mukhada Salona
In Ke Man Mein Viraje Hai Mohana
Kanha Bhajanon Se Vandan Karungi
Apne Jeevan Ko Chandan Karungi

Krishna ji Bhajan Lyrics | Krishna ji ke latest bhajans Lyrics likhit me shayam bhajan Lyrics, shri Radhe shyam bhajan Lyrics

Leave a Reply