मैया का मंदिर सुहाना लगता है

मैया का मंदिर सुहाना लगता है
अंधियारे में भी उजाला लगता है

ऊंचे ऊंचे पहाड़ों पर चल कर आई मां
तेरे लिए प्यारी प्यारी बिंदिया लाइ मां

हाथों से लगाना अच्छा लगता है
अंधियारे में भी उजाला लगता है

मैया का मंदिर सुहाना लगता है
अंधियारे में भी उजाला लगता है

ऊंचे ऊंचे पर्वत पर में चढ़कर आई मां
तेरे लिए प्यारा प्यारा टीका लाई मां

हाथों से पहनाना अच्छा लगता है
अंधियारे में भी उजाला लगता है

ऊंचे ऊंचे पर्वत पर में चढ़कर आई मां
तेरे लिए प्यारी प्यारी झुमकी हरवा लायी माँ
तेरे लिए प्यारी प्यारी करधनी चूड़ियां पायल बिछिया महावर मेहंदी चुनरी लायी माँ

हाथों से पहनाना अच्छा लगता है
अंधियारे में भी उजाला लगता है

मैया का मंदिर सुहाना लगता है
अंधियारे में भी उजाला लगता है

Leave a Reply