मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ

मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ
मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ।।

पान सुपारी ध्वजा नारियल,
तेरी भेट चढ़ाऊंगा तुझको भेट चढ़ाऊंगा,
माँ तुझको भेट चढ़ाऊंगा,
हलवा पूरी और चने का तुझको भोग लगाऊंगा,
बस इतनी औकात है मेरी और चढ़ाऊँ क्या ।।

मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ,
मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ।।

चंपा और चमेली से मैं तेरा हार बनाऊंगा,
गूथ गूथ गजरा केसर फूलो से सजवाऊंगा,
पहनोगी तुम कैसे मैया कैसे मैं पहनाउंगा।।

मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ,
मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ।।

लाल चुनरिया गोटे वाली तारो से जड़ वाउंगा,
कोहेनूर और हीरे पन्ने उसमे जड वाउंगा,
माँ उसके लायक बना दे कहा से मैं लाऊंगा,
वरना कहा से लाऊंगा।।

मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ
मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ।।

माँ मेहनत मेरी रेहमत तेरी जीवन ये कट जायेगा,
जीवन ये कट जायेगा जीवन ये कट जायेगा,
तेरा छलिया इस जीवन में तेरे ही गन जाएगा,
तेरे जयकारो से मैया सारा जग गुंजाएगा।।

मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ,
मैया दे दे तू दे दे थोड़ा प्यार मेरी माँ।।

Leave a Reply