मोहन हमारे मधुबन में तुम आया न करो

मोहन हमारे मधुबन में तुम आया न करो
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

सूरत तुम्हारी देखकर सलोनी सांवरी
सुनकर तुम्हारी बांसुरी मैं हो गयी बांवली
माखन चुराने वाले दिल चुराया ना करो
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

माथे मुकुट गल माल कटी में काछनी सोहे
कानो में कुण्डल झूम के मन मेरे को मोहे
इस चन्द्रमा के रूप से लुभाया न करो
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

अपनी यशोदा मात की सौगंध है तुमको
यमुना नदी की तीर पर तुम न मिलो हमको
इस बांसुरी की तान पे बिलखाया ना करो
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

ऐसी तुम्हारी बांसुरी ने मोहनी डारी
चन्द्रसखी की विनती तुम सुनलो बनवारी
दर्शन देने में सांवरे अब देर ना करो
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

मोहन हमारे मधुबन में तुम आया न करो
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

Mohan Hamare Madhuban Mein
Tum Aaya Naa Karo

Mohan Hamare Madhuban Mein
Tum Aaya Naa Karo

Jadu Bhari Bansuri
Bajaya Naa Karo Shyam

Surat Tumhari Dekhkar Saloni Saawali
Sunkar Tumhari Bansuri Main Hogayi Bawari

Makhan Churane Wale
Dil Churaya Naa Karo

Jadu Bhari Bansuri
Bajaya Naa Karo Shyam

Mathe Mukut Gal Maal
Pati Mein Kaachali Sohe

Kano Kundal Jhoomke
Man Mere Ko Mohe

Iss Chandrma Ke Roop Se
Lubhaya Naa Karo

Jadu Bhari Bansuri
Bajaya Naa Karo Shyam

Apni Yashoda Maat Ki
Saugandh Hai Tumko

Yamuna Nadi Ke Teer Per
Tum Naa Milo Humko

Iss Bansuri Ki Taan
Pe Bilkhaya Naa Karo

Jadu Bhari Bansuri
Bajaya Naa Karo Shyam

Aisi Tumhari Bansuri Ne
Mohani Daari

Chandra Sakhi Ki Vinti
Tum Sunlo Banwari

Darshan Dene Mein Sanware
Ab Der Naa Karo

Jadu Bhari Bansuri
Bajaya Naa Karo Shyam

Mohan Hamare Madhuban Mein
Tum Aaya Naa Karo

Jadu Bhari Bansuri
Bajaya Naa Karo Shyam

Mohan Hamare Madhuban Mein
Tum Aaya Naa Karo

Singer – Saurabh Madhukar

Leave a Reply