याद तेरी आवे रे साँवरिया

नैनन को नाय कसूर,
याद तेरी आवे रे साँवरिया,
देखन को नाय क़सूर,
याद तेरी आवे रे सांवरिया।।

गऊवे रोवे बछड़ा तड़पे,
और रोवे सब जग धाम,
याद तेरी आवे रे साँवरिया याद तेरी,
याद तेरी आवे रे साँवरिया,
मेरे देखन को नाहीं क़सूर,
याद तेरी आवे रे सांवरिया।।

असुवन ये मुखड़ा धोवे,
नन्द बाबा जसोदा रोवे,
और सब रोवे गोपी ग्वाल,
याद तेरी आवे रे साँवरिया याद तेरी,
याद तेरी आवे रे साँवरिया,
मेरे देखन को नाहीं क़सूर,
याद तेरी आवे रे सांवरिया।।

नीलम तेरी याद में रोवे,
और कहुके पप्पियाँ मोर,
याद तेरी आवे रे साँवरिया याद तेरी,
याद तेरी आवे रे साँवरिया,
मेरे नैन बहे जलधार,
दरश मोहे दे जा रे साँवरिया,
मेरे देखन को नाहीं क़सूर,
याद तेरी आवे रे सांवरिया।।

Leave a Reply