राधा तेरा आँगन फूलो से मेहकता है

राधा तेरा आँगन फूलो से मेहकता है,
राधा तेरे कानो के झुमके बड़े प्यारे है
देख नथनी को मेरा कान्हा मचलता है
राधा तेरा आँगन फूलो से मेहकता है।।

राधा तेरे हाथो के कंगन बडे प्यारे है,
देख तेरी मेहँदी को मेरा कान्हा मचलता है
राधा तेरा आँगन फूलो से मेहकता है।।

राधा तूने यो पेहना वो लेहंगा बड़ा प्यारा है
देख तेरी चुनरी को मेरा कान्हा मचल ता है
राधा तेरा आँगन फूलो से मेहकता है।।

Leave a Reply