राधा तेरी मुरली की दीवानी हो गयी

तेरी मस्ती में रंग मस्तानी हो गयी
राधा तेरी मुरली की दीवानी हो गयी।।

तेरा सांवला सा रंग मुझे लगता है मस्ताना
माथे का चंदा भी कान्हा मारे है चमकारा
तेरे नाम की दिल में निशानी हो गयी
राधा तेरी मुरली की दीवानी हो गयी।।

होठो पे लगा के जब मुरली तू बजाये
कानो में गूंजे है मुझे सारी रात जगाये
तुम हो गोकुल के ग्वाल दीवानी राधा रानी हो गयी
राधा तेरी मुरली की दीवानी हो गयी।।

तेरा मेरा इस जग में है जनम जनम का नाता
जब तक तोहे ना देखु तो चैन मुझे ना आता
अजित की तेरे चरणों में जिंदगानी हो गयी
राधा तेरी मुरली की दीवानी हो गयी।।

तेरी मस्ती में रंग मस्तानी हो गयी
राधा तेरी मुरली की दीवानी हो गयी।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply