राधा राधा जपूँगा मैं सारी उम्र

राधा राधा जपूँगा मैं सारी उम्र
बड़े आनंद में गुजरे गा मेरा सफ़र
राधा राधा जपूँगा मैं सारी उम्र।।

बड़ा अनमोल है मेरी श्यामा का नाम
जो जपे राधा राधा बने उसके काम
मेरी श्याम का नाम बने उसके काम
उसको मिल जाती है वृन्दावन की डगर
बड़े आनंद में गुजरे गा मेरा सफ़र
राधा राधा जपूँगा मैं सारी उम्र।।

नाम लेने से दुःख दूर हो जायेगे
मेरे जीवन में खुशियों के दिन आयेगे
जब करेगी वो करुना की मुझपे नजर
बड़े आनंद में गुजरे गा मेरा सफ़र
राधा राधा जपूँगा मैं सारी उम्र।।

ये मेहर दास भी नाम जपने लगा
अपने श्यामा के टुकडो पे पलने लगा
मेरी लाडो को रेहती है मेरी फिकर
बड़े आनंद में गुजरे गा मेरा सफ़र
राधा राधा जपूँगा मैं सारी उम्र।।

Leave a Reply