राम जी का नाम चाहे सुबहो लो या शाम अब तो उनका मोसम है

राम जी का नाम चाहे सुबहो लो या शाम
अब तो उनका मोसम है
है राम भक्त साथ छाई खुशियों की सोगात
अब तो उनका मोसम है।।

राम जी का नाम चाहे सुबहो लो या शाम
अब तो भक्ति का मोसम है
राम जी का नाम चाहे सुबहो लो या शाम
अब तो उनका मोसम है।।

मिल जाए रघुवर जो तेरा सहारा
तो भूलू मैं सारा जहान,
सिया राम बोलो राजा राम बोलो राधे श्याम
बोलो बिगड़े बनेगे सारे काज रे।।

सिया राम बोलो राजा राम बोलो राधे श्याम
बोलो बिगड़े बनेगे सारे काज रे।।

एक सहारा राम तेरा और कोई नही साथ
मिल जाए रघुवर जो तेरा सहारा तो बुलु मैं सारा जहान,
सिया राम बोलो राजा राम बोलो राधे श्याम
बोलो बिगड़े बनेगे सारे काज रे।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply