रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति लाज रखना मेरे गणपति

रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,
रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,
लाज रखना मेरे गणपति।।

ज्ञान का तुम तो सागर हो,
थोड़ा ज्ञान हमें दीजिए,
ज्ञान का तुम तो सागर हो,
थोड़ा ज्ञान हमें दीजिए,
रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,
लाज रखना मेरे गणपति।।

अन्न धन के तुम देने वाले,
थोड़ी माया हमें दीजिए,
अन्न धन के तुम देने वाले,
थोड़ी माया हमें दीजिए,
रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,
लाज रखना मेरे गणपति।।

पहले कीर्तन तुमको मनाऊँ,
लाज रखना मेरे गणपति,
पहले कीर्तन तुमको मनाऊँ,
लाज रखना मेरे गणपति,
अन्न धन के तुम देने वाले,
थोड़ी माया हमें दीजिए।।

Leave a Reply