रे पापण क्यूँ जुल्म कमाएं, एक हाँड़ी दो पेट बनाए ।। सरोज घणघस ।।



Thanks For Watching #श्रवणकुमार_भजन #संगीतरामायण.

Leave a Reply