शिव भजन लिरिक्स

bhajan Lyrics Bhakti- bhakti.lyrics-in-hindi.com

शिव भजन लिरिक्स

नंदी की सवारी करे त्रिपुरारी भजन लिरिक्स – Nandi Ki Sawari Kare Tripurari Bhajan Lyrics

नंदी की सवारी करे त्रिपुरारी
डम डम डमरु बजाये
कान में कुंडल हाथ कमंडल
अंग भभूती लगाये
पूजा करे नर नारी
महिमा है भारी
महादेवा रे महादेवा रे

फ़िल्मी तर्ज भजन शिव भजन

एक दिन वो भोले भंडारी भजन लिरिक्स – Ek Din Vo Bhole Bhandari Bhajan Lyrics

एक दिन वो भोले भंडारी
बन कर के ब्रिज की नारी
गोकुल में आ गये है
पारवती भी मना के हारी
ना माने त्रिपुरारी,
गोकुल में आ गये है

पारवती से बोले मैं भी
चलूँगा तेरे संग में,
राधा संग श्याम नाचे
मैं भी नाचूँगा तेरे संग में,
रास रचेगा ब्रिज में भारी
हमें दिखो प्यारी ,
गोकुल में आ गये है……

ओ मेरे भोले स्वामी
कैसे ले जाओ तोहे साथ में,
मोहन के सिवा वहा
कोई पुरुष ना जाये रास में,
हँसी करे गी ब्रिज की नारी
मान लो बात हमारी,
गोकुल में आ गये है……

ऐसा बनादो मुझे को
कोई न जाने इस राज को,
मैं हु सहेली तेरी
ऐसा बताना ब्रिज राज को,
बना के जुड़ा पहन के साड़ी
चाल चले मत वाली,
गोकुल में आ गये है…….

देखा मोहन ने जब तो
समझ गए ओ सारी बात रे
ऐसी बजायी बंसी
सूद बूद भूले भोलेनाथ रे
सर से खिसक गयी जब साड़ी
मुस्काए गिरधारी
भोले शर्मा गए है

एक दिन वो भोले भंडारी
बन कर के ब्रिज की नारी
गोकुल में आ गये है
पारवती भी मना के हारी
ना माने त्रिपुरारी,
गोकुल में आ गये है

कैलाश निवासी हो शिव भजन लिरिक्स – Kailash Nivasi Ho Shiv Bhajan Lyrics

फ़िल्मी तर्ज – ऐतबार नहीं करना

कैलाश निवासी हो
तुम तो अविनाशी हो
मरघट में भी रहके
आप घट घट के वाशी हो

जिसके तू करीब है
बड़ा खुशनसीब है
मौत भी करे क्या उसका
जो तेरे करीब है
हर हर सुखदासी हो,
प्रभु वेदप्रकाशी हो
मरघट में रहके भी
आप घट घट के वाशी हो

बदली है कितनी तूने,
फूटी तकदीरें
तोड़ डाली पल में तूने,
दुखों की जंजीरें
संकट के नाशी हो,
प्रभु तुम दुखनाशी हो
मरघट में रहके भी
आप घट घट के वाशी हो

आंखों में आंसू भरके
जब कोई बुलाएगा
सुनके आहें ये भक्तों की
दौड़ा चला आएगा
विषधर सन्यासी हो,
प्रभु तुम अविनाशी हो
मरघट में रहके भी
आप घट घट के वाशी हो

फ़िल्मी तर्ज भजन शिव भजन

भोले को कैसे मैं मनाऊं रे मेरा भोला ना माने भजन लिरिक्स – Bhole Ko kaise Mai Manau Re Bhajan Lyrics

Bhole Ko kaise Mai Manau Re Mere Bhola Na Mane Bhajan Lyrics Hindi
Shiv Bhajan: MERA BHOLA NA MANE
Album: JAI SHIV SHANKAR
SINGER: SALEEM MUSIC
LYRICIST: TRADITIONAL

भोले को कैसे मैं मनाऊं रे,
मेरा भोला ना माने
भोला ना माने मेरा शंकर न माने

भोले को भाये न ढोलक मंजीरा
डमरू कहां से लाऊं रे,
मेरा भोला ना माने

भोले को भाये न लड्डू और पेड़े
भांग कहां से लाऊं रे,
मेरा भोला ना माने

भोले को भाये ना हाथी व घोडा
बैल कहां से लाऊं रे,
मेरा भोला ना माने

भोले को भाये ना रेशम का चोला
बागाम्बर कहां से लाऊं रे,
मेरा भोला ना माने

कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ भजन लिरिक्स – Kailash Ke Niwasi Namo Bar Bar Hu Bhajan Lyrics

कैलाश के निवासी
नमो बार बार हूँ,
नमो बार बार हूँ,
आयो शरण तिहारी
भोले तार तार तू,

भक्तो को कभी शिव तुने
निराश ना किया
माँगा जिन्हें जो चाहा
वरदान दे दिया
बड़ा हैं तेरा दायरा…
बड़ा दातार तू,
बड़ा दातार तू
आयो शरण तिहारी…..

बखान क्या करू मै
राखो के ढेर का
लपटी भभूत में हैं
खजाना कुबेर का
हैं गंग धार मुक्ति द्वार…
ओंकार तू ओंकार तू
आयो शरण तिहारी…

क्या क्या नहीं दिया है ,
हम क्या प्रमाण दे
बस गए त्रिलोक
शम्भू तेरे दान से
ज़हर पिया जीवन दिया…
कितना उदार तू,
कितना उदार तू
आयो शरण तिहारी …

कैलाश के निवासी
नमो बार बार हूँ,
नमो बार बार हूँ,
आयो शरण तिहारी
भोले तार तार तू,

आयो शरण तिहारी भोले तार तार तू
भोले तार तार तू, तार तार तू
शम्भू तार तार तू, तार तार तू
भोले तार तार तू, तार तार तू

Kailash Ke Niwasi Namo Bar Bar Hu Bhajan Lyrics Hindi
Song : Kailash Ke NIvasi
Album : Ram Rang Lagyo
Singer : Master Rana

तेरा दर तो हकीकत में दुखियों का सहारा है लिरिक्स – Tera Dar To Hakikat Me Dukhiyo Ka Sahara Hai lyrics

तेरा दर तो हकीकत में
दुखियों का सहारा है,
दरबार तेरा बाबा
जन्नत का नजारा है

बिगड़ी हुई तकदीरें
पल भर में बनाते हो ,
अब लाज रखो बाबा
हमें तेरा सहारा है
तेरा दर तो हकीकत में
दुखियों का सहारा है

टूटी हुई कश्ती है
और दूर किनारा है
अब पार करो नैया
भक्तो ने पुकारा है
तेरा दर तो हकीकत में
दुखियों का सहारा है

जिसने भी पुकारा है
दौड़े चले आते हो
तेरे दर के ही टुकडो पर
हम सब का गुजारा है
तेरा दर तो हकीकत में
दुखियों का सहारा है

दौड़े चले आते हैं,
दुःख दर्द के मारे यहाँ,
सुख चैन वही पाते हैं,
जिन पे तेरा इशारा है
तेरा दर तो हकीकत में
दुखियों का सहारा है

ऐसी सुबह ना आए आए ना ऐसी श्याम लिरिक्स – Aisi Subah Na Aaye Aaye Na Aisi Shyam Lyrics

शिव है शक्ति शिव है भक्ति,
शिव है मुक्ति धाम
शिव है ब्रह्मा शिव है विष्णु,
शिव है मेरा राम

ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी श्याम
जिस दिन जुबा पे मेरी
आए ना शिव का नाम

मन मंदिर में वास है तेरा,
तेरी छवि बसाई
प्यासी आत्मा बनके जोगन,
तेरी शरण में आई
तेरी ही शरण में पाया,
मैंने यह विश्राम
ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी शाम

तेरी खोज में ना जेने,
कितने युग मेरे बीते
अंत में काम क्रोध मद हारे,
हे भोले तुम जीते
मुक्त किया तूने प्रभु मुझको,
शत शत है प्रणाम
ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी शाम

सर्व कला संम्पन तुम्ही हो.
हे मेरे परमेश्वर
दर्शन देकर धन्य करो अब,
हे त्रिनेत्र महेश्वर
भाव सागर से तर जाउंगी,
लेकर तेरा नाम
ऐसी सुबह ना आए,
आए ना ऐसी शाम

दादाजी धुनिवाले भजन बेस्ट भजन शिव भजन साईं बाबा भजन

भोले गिरिजा पति हूँ तुम्हारी लिरिक्स – Bhole Girija Pati Hu Tumhari Sharan Lyrics

भोले गिरिजा पति हूँ तुम्हारी शरण,
भँवर में नाव पड़ी है, बिच मजधार हूँ मैं,
सहारा दीजिये आकर, की अब लाचार हूँ मैं।

भोले गिरिजा पति हूँ तुम्हारी शरण,
हे कैलाश पति हूँ तुम्हारी शरण।।

सुना है आपका जिसने कभी पुकार किया,
उसका आपने संकट से है उद्धार किया,
भगत हूँ आपका मैं भी तो ऐ मेरे भोले,
आसरा आपका हमने भी ऐ सरकार किया,
हूँ तुम्हारी शरण, शरण तुम्हारी शरण

सदा दरबार में एक भीड़ भक्तो की लगी देखि,
हर एक भगत की झोली आपके दर पे भोले भरी देखि,
कोई लौटा नही खाली, तुम्हारे द्वार पे आके,
निपुत्री बाँझ की हमने यही, गोदी हरी देखि,
यही है प्रार्थना तुमसे मेरी भोले शंकर,
दया की दृष्टि जरा डाल दो भोले मुझ पर,
तुम्हारे द्वार पे झुका दिया है सर ये कह कह कर,
हूँ तुम्हारी शरण, शरण तुम्हारी शरण।

मैं तो नादान हूँ दुनिया से भी अंजाना हूँ,
पर ये सच है की भोले मैं तेरा दीवाना हूँ,
ठोकरे दुनिया की मेरे भोले मैं बहुत खाया हूँ,
होके लाचार में तेरे दर पे आया हूँ,
हूँ तुम्हारी शरण, शरण तुम्हारी शरण।।

मेरी झोली चरण के धूल से एक बार भर दी जे,
मेहर की एक नजर सरकार लख्खा पे कर दी जे,
सरन देते हो सबको मेरी खातिर क्यों हुई देरी,
तुम्हारे हाथ में है प्रभु अब लाज मेरी,
हूँ तुम्हारी शरण, शरण तुम्हारी शरण।

तुम जो चाहोगे तो तक़दीर पलट जाएगी,
दुःख संकट सभी एक पल में ही हट जाएगी,
मुझको विश्वास है और दिल में यकीं है मुझको,
छोड़कर आपकी चोखट को अगर जाऊंगा,
अपने चरणों में पड़ा रहने दो मुझको भोले,
गर चरण छूटे तो बेमौत ही मर जाऊंगा,
हूँ तुम्हारी शरण, शरण तुम्हारी शरण।

तुम्हारे नाम के प्याले को पि रहा हु में,
कृपा से आपकी दुनिया में जी रहा हूँ में,
दया क्र मेरे भोले ये शर्मा की दुहाई है,
मेरी बिगड़ी बना दे तुमने लाखो की बनाई है,
हूँ तुम्हारी शरण, शरण तुम्हारी शरण।।

Bhole Girija Pati Hu Tumhari Sharan Shiv Bhajan Lyrics
Shiv Bhajan: Bhole Girja Pati
Album: Chal Bhole Ke Dwar
Singer: Lakhbir Singh Lakkha
Composer: DURGA-NATRAJ
LYRICIST: GURU JI RAM LAL SHARMA

शिव शंकर डमरू वाले लिरिक्स – Shiv Shankar Damaru wale Lyrics

है धन्य तेरी माया जग में,
ओ दुनिए के रखवाले
शिव शंकर डमरू वाले,
शिव शंकर भोले भाले

जो ध्यान तेरा धर ले मन में,
वो जग से मुक्ति पाए
भव सागर से उसकी नैया
तू पल में पार लगाए
संकट में भक्तो में बड़ कर
तू भोले आप संभाले
शिव शंकर डमरू वाले…

है कोई नहीं इस दुनिया में
तेरे जैसा वरदानी
नित्त सुमरिन करते
नाम तेरा सब संत ऋषि और ग्यानी
ना जाने किस पर खुश हो कर
तू क्या से क्या दे डाले
शिव शंकर डमरू वाले…

त्रिलोक के स्वामी हो कर भी
क्या औघड़ रूप बनाए
कर में डमरू त्रिशूल लिए और
नाग गले लिपटाये
तुम त्याग से अमृत पीते हो
नित्त प्रेम से विष के प्याले
शिव शंकर डमरू वाले…

तप खंडित करने काम देव जब
इन्द्र लोक से आया
और साध के अपना काम बाण
तुम पर वो मूरख चलाया
तब खोल तीसरा नयन भसम
उसको पल में कर डाले
शिव शंकर डमरू वाले…

जब चली कालिका क्रोधित हो
खप्पर और खडग उठाए
तब हाहाकार मचा जग में
सब सुर और नर घबराए
तुम बीच डगर में सो कर
शक्ति देवी की हर डाले
शिव शंकर डमरू वाले…

अब दृष्टि दया की भक्तो पर
हे डमरू धर कर देना
‘शर्मा’ और ‘लख्खा’ की झोली
गौरी शंकर भर देना
अपना ही सेवक जान
हमे भी चरणों में अपनाले
शिव शंकर डमरू वाले…

हे भोले शंकर पधारो लिरिक्स – He Bhole Shankar Padharo Lyrics

हे भोले शंकर पधारो बैठे छिप के कहाँ ।
गंगा जटा में तुम्हारी, हम प्यासे यहाँ ॥
महा सती के पति मेरी सुनो वंदना ।
आओ मुक्ति के दाता पड़ा संकट यहाँ ॥

बगीरथ को गंगा प्रभु तुमने दी थी,
सगर जी के पुत्रों को मुक्ति मिली थी ।
नील कंठ महादेव हमें है भरोसा है,
इच्छा तुम्हारी बिना कुछ भी नहीं होता ॥
हे भोले शम्भू पधारो किस ने रोके वहां,
आयो भसम रमयिया सब को तज के यहाँ ॥

मेरी तपस्या का फल चाहे लेलो,
गंगा जल अब अपने भक्तो को दे दो ।
प्राण पखेरू कहीं प्यासा उड़ जाए ना,
कोई तेरी करुना पे उंगली उठाए ना ॥
भिक्षा मैं मांगू जन कल्याण की,
इच्छा करो पूरी गंगा सनान की ॥
अब ना देर करो, आ के कष्ट हरो,
मेरी बात रख लो, मेरी लाज रख लो ॥
हे भोले गंगधार पधारो, डोरी टूट जाए ना,
मेरा जग में नहीं कोई तुम्हारे बिना ॥

नंदी की सौगंध तुमे, वास्ता कैलाश का,
बुझ ना देना दीया मेरे विशवास का ।
पूरी यदि आज ना हुई मनोकामना,
फिर दीनबंधू होगा तेरा नाम ना ।
भोले नाथ पधारो, तुमने तारा जहां,
आओ महा सन्यासी अब तो आ जाओ ना ॥

सज रहे भोले बाबा निराले दूल्हे में लिरिक्स – Saj Rahe Bhole Baba Nirale Dulhe Me Lyrics

सज रहे भोले बाबा निराले दूल्हे में
निराले दूल्हे में, मतवाले दूल्हे में
सज रहे भोले बाबा निराले दूल्हे में

अरे देखो भोले बाबा की अजब है बात
चले हैं संग ले कर के भूतों की बरात
सज रहे भोले बाबा निराले दूल्हे में

भेस निराला, जय हो
पीए भंग का पायला, जय हो
सर जटा चढ़ाये, जय हो
तन भसम लगाए, जय हो
ओढ़ी मृगशाला, जय हो
गले नाग की माला, जय हो
है शीश पे गंगा, जय हो
मस्तक पे चंदा, जय हो
तेरे डमरू साजे, जय हो
त्रिशूल विराजे, जय हो
भूतों की ले कर टोली चले हैं ससुराल
शिव भोले जी दिगंबर हो बैल पे सवार
सज रहे भोले बाबा निराले दूल्हे में

नित रहें अकेले शंकर अलबेले
हैं गुरु जगत के नहीं किसी के चेले
है भांग का जंगल जंगल में मंगल
भूतों की पल्टन आ गयी है बन थन
ले बांग का कठ्ठा
ले कर सिल वट्टा
सब घिस रहें है
हो हक्का बक्का
पी कर के प्याले
हो गए मतवाले
कोई नाचे गावे
कोई ढोल बजावे
कोई भौं बतावे
कोई मुंह पिचकावे
भोले भंडारी पहुंचे ससुरारी
सब देख के भागे
सब नर और नारी
कोई भागे अगाडी
कोई भागे पिछाड़ी
खुल गयी किसी की
धोती और साडी
कोई कूदे खम्बम
कोई बोले बम बम
कोई कद का छोटा
कोई एकदम मोटा
कोई तन का लम्बा
कोई ताड़ का खम्बा
कोई है इक टंगा
कोई बिलकुल नंगा
कोई एकदम काला
कोई दो सर वाला
‘शर्मा’ गुण गए
मन में हर्षाए
त्रिलोक के स्वामी
क्या रूप बनाए
भोले के साथी
हैं अजब बाराती
भूतों की ले कर टोली चले हैं ससुराल
शिव भोले जी दिगंबर हो बैल पे सवार
सज रहे भोले बाबा निराले दूल्हे में

कैसे भोले तुमने दुनिया बनायीं भजन लिरिक्स – Kaise Bhole Tumne Duniya Banayi Lyrics

नंदी पे बिठाके तू घुमादे भोले जोगिया
देखो सारा संसार चल पर्वत के उस पार
दुनिया देखन दे देखन दे

कलयुग का ये दौर गौरा बदली सारी दुनिया
बड़ा स्वार्थी संसार वहाँ जाना है बेकार
तप कर लेन दे कर लेन दे
नंदी पे बिठाके तू घुमादे भोले जोगिया ..

कैसे भोले तुमने दुनिया बनायीं
देखूंगी एक बार हो
पापी अधर्मी लोग यंहा पर
बहुत बुरा संसार हो
तुम तो कहते मेरे जगत में
होती है जय जय कार हो
गौरा सुनो ये है माया की नगरिया
देखो सारा संसार
चल पर्वत के उस पार दुनिया देखन दे

मैंने सुना पिया पृथ्वी लोक में
पावन है हरिद्वार धाम हो
हरिद्वार ही गंगा धाम है
कहते है हरी का द्वार हो
ले चल भोले गंगा किनारे
देखूंगी चमत्कार हो
होती है तू व्याकुल
इतनी गणपत की ओ मैया
बड़ा स्वार्थी संसार वहाँ जाना है बेकार
तप कर लेन दे कर लेन दे
नंदी पे बिठाके तू घुमादे भोले जोगिया ..

आओ महिमा गाए भोले नाथ की भजन लिरिक्स – Aao Mahima Gaye Bhole Nath Ki Bhajan Lyrics

आओ महिमा गाए भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की
भोले नाथ की जय, शम्भू नाथ की जय
गौरी नाथ की जय, दीना नाथ की जय
आओ महिमा गाए भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

मुख पर तेज है, अंग भभूती
गले सर्प की माला।
माथे चन्द्रमा, जटा में गंगा
शिव का रूप निराला॥
अन्तर्यामी, सबका स्वामी
भक्तो का रखवाला।
तीन लोको में बाट रहा है
ये दिन रात उजाला॥

जय बोलो, जय बोलो भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की
भोले नाथ की जय, शम्भू नाथ की जय
गौरी नाथ की जय, दीना नाथ की जय
आओ महिमा गाए भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की
हरी ओम नमः शिवाय नमो

पी के भंग तरंग में जब जब
भोला शंकर आए।
हाथ में अपने डमरू ले कर
नाचे और नचाये॥
जो भी श्रध्दा और भक्ति की
मन में ज्योत जगाये।
मेरा भोला शंकर उस पर
अपना प्यार लुटाये॥

जय बोलो, जय बोलो भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की
भोले नाथ की जय, शम्भू नाथ की जय
गौरी नाथ की जय, दीना नाथ की जय
आओ महिमा गाए भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

भव पार लगते शिव भोले
बिगड़ी बनाते ये शिव भोले।
कष्ट निवारे ये शिव भोले
दुःख दूर करे ये शिव भोले॥

जय बोलो दीनानाथ की
जय बोलो गौरीनाथ की
जय बोलो बद्रीनाथ की
जय बोलो शम्भूनाथ की

है सबसे न्यारे शिव भोले।
है डमरू धरी शिव भोले।
भोले भंडारी शिव भोले।

जय बोलो दीनानाथ की
जय बोलो गौरीनाथ की
जय बोलो बद्रीनाथ की
जय बोलो शम्भूनाथ की

भव पार लगते शिव भोले
बिगड़ी बनाते शिव भोले।
कष्ट निवारे शिव भोले
दुःख दूर करे ये शिव भोले।

आओ महिमा गाए भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की

डमरू बजाये अंग भस्म रमाये लिरिक्स – Damaru bajaye Ang Bhasm Ramaye Lyrics

डमरू बजाये अंग भस्म रमाये और ,
ध्यान लगाये किसका न जाने वो डमरू वाला,
सब देवो में सब देवों में हे वो देव निराला,
डमरू बजाये अंग भस्म रमाये
और ध्यान लगाये किसका ,

मस्तक पे चंदा तेरी जाटा में हे गंगा,
रहती पार्वती संग में सवारी हे बुढा नंदा,
हे कैलाशी हे अविनाशी हे कैलाशी हे अविनाशी,
रहता सदा मतवाला डमरू बजाये…….

बाघम्बर धारी भोला शम्भू त्रिपुरारी,
रहता मस्त सदा शिव की महिमा हे सबसे न्यारी,
भोला भला वो मतवाला,पीवे भंग का प्याला,
डमरू बजाये……..

सत्संग मंडल ये गाये ,
भोला शम्भू को ध्याये,
जो भी मांगे सो पावे दर से खली ना जाये,
बड़ा हे दानी बड़ा हे ज्ञानी,
बड़ा हे दानी बड़ा हे ज्ञानी,
सारा जग का रखवाला ……….

महाशिवरात्रि 2022 – शिव तांडव स्तोत्र लिरिक्स – रावण (Shiv Tandav Stotram Lyrics Full)

जटाटवीगलज्जल प्रवाहपावितस्थले
गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजंगतुंगमालिकाम्‌।
डमड्डमड्डमड्डमनिनादवड्डमर्वयं
चकार चंडतांडवं तनोतु नः शिवः शिवम ॥1॥

जटा कटा हसंभ्रम भ्रमन्निलिंपनिर्झरी ।
विलोलवी चिवल्लरी विराजमानमूर्धनि ।
धगद्धगद्ध गज्ज्वलल्ललाट पट्टपावके
किशोरचंद्रशेखरे रतिः प्रतिक्षणं ममं ॥2॥

धरा धरेंद्र नंदिनी विलास बंधुवंधुर-
स्फुरदृगंत संतति प्रमोद मानमानसे ।
कृपाकटा क्षधारणी निरुद्धदुर्धरापदि
कवचिद्विगम्बरे मनो विनोदमेतु वस्तुनि ॥3॥

जटा भुजं गपिंगल स्फुरत्फणामणिप्रभा-
कदंबकुंकुम द्रवप्रलिप्त दिग्वधूमुखे ।
मदांध सिंधु रस्फुरत्वगुत्तरीयमेदुरे
मनो विनोदद्भुतं बिंभर्तु भूतभर्तरि ॥4॥

सहस्र लोचन प्रभृत्य शेषलेखशेखर-
प्रसून धूलिधोरणी विधूसरांघ्रिपीठभूः ।
भुजंगराज मालया निबद्धजाटजूटकः
श्रिये चिराय जायतां चकोर बंधुशेखरः ॥5॥

ललाट चत्वरज्वलद्धनंजयस्फुरिगभा-
निपीतपंचसायकं निमन्निलिंपनायम्‌ ।
सुधा मयुख लेखया विराजमानशेखरं
महा कपालि संपदे शिरोजयालमस्तू नः ॥6॥

कराल भाल पट्टिकाधगद्धगद्धगज्ज्वल-
द्धनंजया धरीकृतप्रचंडपंचसायके ।
धराधरेंद्र नंदिनी कुचाग्रचित्रपत्रक-
प्रकल्पनैकशिल्पिनि त्रिलोचने मतिर्मम ॥7॥

नवीन मेघ मंडली निरुद्धदुर्धरस्फुर-
त्कुहु निशीथिनीतमः प्रबंधबंधुकंधरः ।
निलिम्पनिर्झरि धरस्तनोतु कृत्ति सिंधुरः
कलानिधानबंधुरः श्रियं जगंद्धुरंधरः ॥8॥

प्रफुल्ल नील पंकज प्रपंचकालिमच्छटा-
विडंबि कंठकंध रारुचि प्रबंधकंधरम्‌
स्मरच्छिदं पुरच्छिंद भवच्छिदं मखच्छिदं
गजच्छिदांधकच्छिदं तमंतकच्छिदं भजे ॥9॥

अगर्वसर्वमंगला कलाकदम्बमंजरी-
रसप्रवाह माधुरी विजृंभणा मधुव्रतम्‌ ।
स्मरांतकं पुरातकं भावंतकं मखांतकं
गजांतकांधकांतकं तमंतकांतकं भजे ॥10॥

जयत्वदभ्रविभ्रम भ्रमद्भुजंगमस्फुर-
द्धगद्धगद्वि निर्गमत्कराल भाल हव्यवाट्-
धिमिद्धिमिद्धिमि नन्मृदंगतुंगमंगल-
ध्वनिक्रमप्रवर्तित प्रचण्ड ताण्डवः शिवः ॥11॥

दृषद्विचित्रतल्पयोर्भुजंग मौक्तिकमस्रजो-
र्गरिष्ठरत्नलोष्टयोः सुहृद्विपक्षपक्षयोः ।
तृणारविंदचक्षुषोः प्रजामहीमहेन्द्रयोः
समं प्रवर्तयन्मनः कदा सदाशिवं भजे ॥12॥

कदा निलिंपनिर्झरी निकुजकोटरे वसन्‌
विमुक्तदुर्मतिः सदा शिरःस्थमंजलिं वहन्‌।
विमुक्तलोललोचनो ललामभाललग्नकः
शिवेति मंत्रमुच्चरन्‌कदा सुखी भवाम्यहम्‌॥13॥

निलिम्प नाथनागरी कदम्ब मौलमल्लिका-
निगुम्फनिर्भक्षरन्म धूष्णिकामनोहरः ।
तनोतु नो मनोमुदं विनोदिनींमहनिशं
परिश्रय परं पदं तदंगजत्विषां चयः ॥14॥

प्रचण्ड वाडवानल प्रभाशुभप्रचारणी
महाष्टसिद्धिकामिनी जनावहूत जल्पना ।
विमुक्त वाम लोचनो विवाहकालिकध्वनिः
शिवेति मन्त्रभूषगो जगज्जयाय जायताम्‌ ॥15॥

इमं हि नित्यमेव मुक्तमुक्तमोत्तम स्तवं
पठन्स्मरन्‌ ब्रुवन्नरो विशुद्धमेति संततम्‌।
हरे गुरौ सुभक्तिमाशु याति नांयथा गतिं
विमोहनं हि देहना तु शंकरस्य चिंतनम ॥16॥

पूजाऽवसानसमये दशवक्रत्रगीतं
यः शम्भूपूजनमिदं पठति प्रदोषे ।
तस्य स्थिरां रथगजेंद्रतुरंगयुक्तां
लक्ष्मी सदैव सुमुखीं प्रददाति शम्भुः ॥17॥

महाशिवरात्रि 2021 – शिव तांडव स्तोत्र लिरिक्स – रावण

तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में लिरिक्स -Takadir Mujhe Le Chal Mahakal Ki Basti Me Lyrics

उज्जैन में हर रंग के दीवाने मिलेंगे,
आपस में बड़े प्यार से बेगाने मिलेंगे,
हर और से आते हैं दर्शन को सब भगत,
मेरे बाबा महाकाल के दीवाने मिलेंगे,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,
ये उम्र ये गुज़र जाएं महाकाल की बस्ती में,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,

क्या जानें कोई क्या है, महाकाल का दरबारा,
सबसे बड़ा है जग में महाकाल का दरबार,
बैठा है धूणी डाले महाकाल मेरा बाबा,
बम बम अलख जगाएं महाकाल मेरा बाबा,
लम्बी लागी कतारे भस्म आरती की देखो,
दूल्हा बना हुआ है महाकाल मेरा बाबा,
तक़दीर मुझे ले चल महा काल की बस्ती में,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,
ये उम्र ये गुज़र जाएं महाकाल की बस्ती में,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,

भस्मी लगाए बैठा महाकाल मेरा बाबा,
और भुजंग गले में डाले, महाकाल मेरा बाबा,
कालों का काल हैं जी महा काल मेरा बाबा,
सबसे निहाल है जी महाकाल मेरा बाबा,
तारे कर्म से सबको महाकाल मेरा बाबा,
काटे जो काल सबके, महाकाल मेरा बाबा,
तक़दीर मुझे ले चल महा काल की बस्ती में,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,
ये उम्र ये गुज़र जाएं महाकाल की बस्ती में,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,

मेरी भी कामना है, महाकाल के दर जाऊँ,
जीवन वहीँ गुजारूं कभी लौट के ना आऊँ,
कर सेवा महाकाल की जीवन सफल बनाऊं,
चौखट पे महाकाल की सर अपना मैं झुकाऊँ,
बस रात दिन भजन मैं महाकाल के ही गाऊँ,
तक़दीर मुझे ले चल महा काल की बस्ती में,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,
ये उम्र ये गुज़र जाएं महाकाल की बस्ती में,
तकदीर मुझे ले चल महाकाल की बस्ती में,

शिव जी की महिमा अपरम्पार है लिरिक्स – Shivji Ki Mahima Aparampar Hai Lyrics

फ़िल्मी तर्ज – साजन मेरा उस पार है

शिव जी की महिमा अपरम्पार है
आया शिवरात्रि का त्यौहार है,
चरणों में नतमस्तक संसार है,
आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।।

जिनके उर में सर्पो की माला है,
भस्म रमाए बैठा डमरू वाला है,
सिर पर जिनके गंगा की धार है,
दुनिया उनकी करती जय जयकार है,
शिव जी की महिमा अपरम्पार है,
आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।।

भांग धतूरा बेल पत्र ले आए है,
गंगा जल में अक्षत फूल सजाए है,
होंठों पे भरे बस ओमकार है,
शिवजी के मंत्रो का गुंजार है,
शिव जी की महिमा अपरम्पार है,
आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।।

ईच्छा जन जन की ये पूरी करते है,
झोली हरदम भक्तों की ये भरते है,
दर्शन करने से ही उद्धार है,
गजब अनुज देवेंद्र इनका शृंगार है,
शिव जी की महिमा अपरम्पार है,
आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।।

भोली सी सुरत माथेपे चंदा भजन लिरिक्स – Bholi Si Surat Mathe Pe Chanda Bhajan Lyrics

भोलीसी सुरत, माथेपे चंदा
देखो चमकता जाए
सदा समाधि में है मगन, कही
भोला नजर ना आए
जब भक्तो को पडे जरुरत
खुद को रोक ना पाए

सागर मंथन के अवसर पर , शिवजी विष पी जाए
पीकर विष की गगरी भोला नीलकंठ कहलाये
कोई भी मांगे बुंद तो ये सारा सागर दिखलाए
शिव की लीला बडी अलग है कोई समझ ना पाए

भोलीसी सुरत, माथेपे चंदा
देखो चमकता जाए
सदा समाधि में मगन, कही
भोला नजर ना आए
जब भक्तोको को पडे जरुरत
खुद को रोक ना पाए

शिव अकाम गुण के है धाम शिव का ही नाम संयम
शिवलीला तो है अगाध तोडे करमो का बंधन
शिव शक्ति से अलग नहीं है संसार का कण कण
शिव का नाम लिए मन मे चलता हूँ मै तो हरदम

भोलीसी सुरत, माथेपे चंदा
देखो चमकता जाए
सदा समाधि में मगन, कही
भोला नजर ना आए
जब भक्तोको को पडे जरुरत
खुद को रोक ना पाए

Bholi Si Surat Mathe Pe Chanda Bhajan Lyrics Hindi
लेखक ; धनाश्री पाटिल
गायक : मुकेश कुमार
संगीत : अशीष दाधीच
वीडियो : अनिता मीना

फ़िल्मी तर्ज भजन शिव भजन

शिव भजन लिरिक्स

This Post Has One Comment

Leave a Reply