श्याम दीवानी हो गई

आखियो में काजल डाला तो
श्याम घटा गहन घोर हुई
हो गयी हो गयी हो गयी री
मैं तो श्याम दीवानी हो गई

नयन लगे सपनो में
कान्हा कान्हा ही आये
राधा राधा करते
धीरे से मुझे जगाये

कभी तो रास दिखाए
कभी नाच नाच दिखलाये
देख मधुर मुस्कान श्याम की
रोम रोम भर आये

नैनो से सपना टूटा तो
राधा रानी रो गयी
हो गयी हो गयी हो गयी री
मैं तो हो गयी श्याम दीवानी हो गई

आखियो में काजल डाला तो
श्याम घटा गहन घोर हुई
हो गयी हो गयी हो गयी री
मैं तो श्याम दीवानी हो गई

दौड़ी दौड़ी भागी भागी
कबसे से झूझ रही
मधुबन में बैठे हो कन्हैया
कान्हा कान्हा तुम्हे ढूढ़ रही
गोपियाँ देख रही है हमको
दूर कही चलते है
सुनो मुरलिया तेरे प्यार के
दीप जहा जलते है

सुनके तेरी मीठी मुरली
कान्हा मैं तो खो गयी
हो गयी हो गयी हो गयी री
मैं तो हो गयी श्याम दीवानी हो गई

आखियो में काजल डाला तो
श्याम घटा गहन घोर हुई
हो गयी हो गयी हो गयी री
मैं तो श्याम दीवानी हो गई

Leave a Reply