श्याम मथुरा ना जा तेरी राधा रो रो पुकारे

श्याम मथुरा ना जा तेरी राधा रो रो पुकारे,
श्याम मथुरा ना जा तेरी राधा रो रो पुकारे।।

मेरा दिल टूट गया आस ना तो टुट्टण दे तारे
श्याम मथुरा ना जा श्याम मथुरा ना जा।।

गौआ ने रो रो के हौंके भरे,
यमुना दा कंडा वी तरले करे
रास आके रचा रास आके रचा
तेन्नु वाजा पये मारण नज़ारे,
श्याम मथुरा ना जा तेरी राधा रो रो पुकारे।।

किदरे गई ओ तसल्ली तेरी
रुळ जायेगी जींद कल्ली मेरी जैसी करनी दगा,
सानू दित्ते तू झूठे सहारे,
श्याम मथुरा ना जा तेरी राधा रो रो पुकारे।

तेरे बिना जिन्दा रहणा नई विछोड़े दा दुखड़ा,
भी सेहना नई दरश आके दिखा,
अटके बुल्ला दे बोल बेचारे,
श्याम मथुरा ना जा तेरी राधा रो रो पुकारे,
श्याम मथुरा ना जा तेरी राधा रो रो पुकारे,
श्याम मथुरा ना जा।।

Leave a Reply