श्याम सुन्दर के जो है पुजारी प्रीत उनसे लगाए हुए है

श्याम सुन्दर के जो है पुजारी,
प्रीत उनसे लगाए हुए है,
प्रीत उनसे लगाए हुए है,
तोड़ कर झूठे बंधन जगत के,
तोड़ कर बंधन झूठे जगत के,
प्रीत उनसे लगाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी,
उनको मन में बसाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी।।

प्रेम से बोलिये जय जय राधे
बोलिये भक्त और भगवान की जय
बोलिये बंसीधर मोर मुकुट वाले की जय
बोलिये भक्त वत्सल भगवान की जय

प्रेम से विष को भी पी लिया था,
भेद मीरा ने जब पा लिया था,
भेद मीरा ने जब पा लिया था,
विष के प्याले में भी श्याम सुंदर,
विष के प्याले में भी श्याम सुंदर,
विष के प्याले में मुरली मनोहर,
अपना आसन लगाए हुए है,
अपना आसन लगाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो हैं पुजारी,
उनको मन में बसाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी।।

द्रोपदी ने कहा कौरवों से,
चिर मेरा ये बढ़ता रहेगा,
चिर मेरा ये बढ़ता रहेगा,
हो चिर मेरा ये बढ़ता रहेगा,
मेरे आँचल में श्याम सुन्दर,
मेरे आँचल के धागों में आकर,
श्याम सुंदर समाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो हैं पुजारी,
उनको मन में बसाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी।।

सूर दस जी ने कहा है –
एक बार अगर तूने अपना लिया
तो इस जगत से नाता तोड़ दू
अगर तूने एक बार झलक दिखला दी तो
इन आँखों को ही फोड़ दू

सुर बोला सुनो साफ कह दूँ,
मन की आँखो से तुमको मैं देखूं,
मन की आँखो से तुमको मैं देखूं,
इसलिए नयन गोपाल मैने,
भेट तुमको चढ़ाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो हैं पुजारी,
उनको मन में बसाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी।।

सदियो से तेरा हूँ दीवाना,
ये जनम जनम का फेरा है,
ये जनम जनम का फेरा है,
एक तेरी साँवरी सूरत ने,
ये दिल दीवाना घेरा है,
ये दिल दीवाना घेरा है,
नंद लाल तेरे दीदार बिना
इस दिल में हुआ अंधेरा है,
इस दिल में हुआ अंधेरा है,
एक बार तो तू कहदे मुझसे
तू मेरा है तू मेरा है, तू मेरा है तू मेरा है,

तू मेरा है तू मेरा है, तू मेरा है तू मेरा है,
श्याम सुन्दर के जो हैं पुजारी,
उनको मन में बसाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी।।

श्याम सुन्दर के जो है पुजारी,
प्रीत उनसे लगाए हुए है,
प्रीत उनसे लगाए हुए है,
तोड़ कर झूठे बंधन जगत के,
तोड़ कर बंधन झूठे जगत के,
प्रीत उनसे लगाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी,
उनको मन में बसाए हुए है,
श्याम सुन्दर के जो है पुजारी।।

Shyam Sunder Ke Jo Hai Pujari
Preet Unse Lagaye Hue Hai

Shyam Sunder Ke Jo Hai Pujari
Preet Unse Lagai Hue Hai

Tod Kar Jhoothe Bandhan Jagat Ke
Tod Kar Bandhan Jhoothe Jagat Ke
Preet Unse Lagaye Hue Hai

Shyam Sunder Ke Jo Hai Pujari
Unko Mann Mein Basaye Hue Hai

Prem Se Vish Ko Bhi Pee Liya Tha
Bhed Meera Ne Jab Paa Liya Tha

Vish Ke Pyale Mein Bhi Shyam Sundar
Vish Ke Pyale Mein Murali Manohar
Apna Aasan Lagaye Hue Hai

Shyam Sunder Ke Jo Hai Pujari
Unko Mann Mein Basaye Hue Hai

Dropadi Ne Kaha Kauravo Se
Cheer Mera Ye Badta Rahega

Ho Mere Anchal Mein Aakar Shyam Sundar
Mere Anchal Ke Dhage Mein Aake
Shyam Sundar Samaye Hue Hai

Shyam Sunder Ke Jo Hai Pujari
Unko Mann Mein Basaye Hue Hai

Sur Bola Suno Saaf Kahdu
Mann Ki Aankho Se Tumko Main Dekhu
Isliye Nayan Gopal Maine
Ho Bhet Tumko Chadaye Hue Hai

Shyam Sunder Ke Jo Hai Pujari
Unko Mann Mein Basaye Hue Hai

Sadiyo Se Tera Hu Deewana
Ye Janam Janam Ka Fera Hai
Ek Teri Saanwari Surat Ne
Ye Dil Deewana Ghera Hai

Nand Laal Tere Deedar Bina
Iss Dil Mein Hua Andhera Hai
Ek Baar To Tu Kahde Mujhse
Tu Mera Hai Tu Mera Hai

Shyam Sunder Ke Jo Hai Pujari
Preet Unse Lagaye Hue Hai

This Post Has One Comment

Leave a Reply