श्री राम भक्त कहलाते जय जय बजरंग हनुमान

कलियुग के देव कहलाते
और सफल बनाते काम
मुश्किल को सफल बनाते
सब मंगल मई करदेते
श्री राम भक्त कहलाते
जय जय बजरंग हनुमान

चाहे काम जो कोई कर ना पाये
पलभर में हनुमत उसको कर जाये
हैं बलकारी ये ब्रम्हचारी
शक्ति इनकी सबपे भारी
फाड़ के अपना सीना
दिखलाये श्री राम
सिंह के जैसे गरजे
बोले जय सियाराम
तब माना लंकेशपति ने
सच्चा राम का दास
श्री राम भक्त कहलातें
जय जय बजरंग हनुमान
श्री राम भक्त कहलातें
जय जय बजरंग हनुमान।।

जब बाण से घायल
लक्ष्मण जी पड़े थे
तब नर मानव सब
संकट में पड़े थे
है कौन यहां बलवान जो
रात में द्रोणागिरी को जाये
लाकर के संजीवन बूटी
लक्ष्मण के प्राण बचाये
जय जय बजरंगी आये
श्रीराम को शीश झुकाए
पाकर आज्ञा बजरंगी
पवन वेग उड़ जाए
चीर के सब बाधाएं पवनसुत
लाए संजीवन दान
लाए संजीवन दान
श्री राम भक्त कहलातें
जय जय बजरंग हनुमान
श्री राम भक्त कहलातें
जय जय बजरंग हनुमान।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply