श्री हनुमान अमृतवाणी -जय जय श्री हनुमान बजरंगी बलवान

बड़े से बड़े संकट का निवारण करती है श्री हनुमान अमृतवाणी


रामायण में काण्ड भाई भक्तो कांड सुन्दर काण्ड
सुन्दर काण्ड के महानायक महावीर हनुमान
लीला श्री हनुमान की कहता सुन्दर काण्ड
जय जय जयकार लगा रहा ये सारा ब्रह्माण्ड।।

राम के बनाएके पाया परम स्थान
जिनके ह्रदय में बेस सीता राम
राम दूत बजरंग बलि रूद्र के है अवतार
पवन पुत्र के चरणों में नमन है सौ सौ बार
जय जय श्री हनुमान बजरंगी बलवान ।।

रामायण की माला के मोती है महावीर
धरमा रूप धर्मात्मा धीर वीर रणधीर
उनके काज संवारते जो सुमिरे श्री राम
चरण शरण में आये जो बनते बिगड़े काम
राम की माला ये जापे लेते राम का नाम
राम चरण में हनुमत का भक्तो परम है धाम
मंगल मूरति आप हो संकट मोचन आप
आपके सुमिरन से मिटते पाप संताप
जय जय श्री हनुमान बजरंगी बलवान ।।

Leave a Reply