सज धज के बैठी है माँ लागे सेठानी

सज धज के बैठी है माँ लागे सेठानी
लागे सेठानी हो मेरी माँ लागे सेठानी

किसने मैया जी तेरी चुनरी बनायीं
चुनरी बनायीं तेरे सर पे सजाई
चुनरी में तार हजार लागे सेठानी

सज धज के बैठी है माँ लागे सेठानी
लागे सेठानी हो मेरी माँ लागे सेठानी

किसने मैया जी तेरी पायल बनाई
पायल में घुँघरू हजार लागे सेठानी
सज धज के बैठी है माँ लागे सेठानी

किन किन हाथो में मैया मेहंदी लगाऊ
मेहंदी लगाऊ तेरे हाथो में रचाऊ
मैया तेरे हाथ है हजार लागे है सेठानी

सज धज के बैठी है माँ लागे सेठानी
लागे सेठानी हो मेरी माँ लागे सेठानी

मेरी मैया के नवराते है आये
मेरी माता के नवराते है आये
सब मिल कर माँ की ज्योति जगाये
रवि लगाए जय जय कार
मिल जाए माँ का प्यार लागे है सेठानी
मेरी माता के नवराते है आये

सज धज के बैठी है माँ लागे सेठानी
लागे सेठानी हो मेरी माँ लागे सेठानी

Saj Dhaj Ke Baithi Hai Maa Laage Sethani

Leave a Reply