साँवरिया ऐसा डाल गुलाल मैं रंग जाऊं तेरे रंग में

सांवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में,
साँवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में।।

सांवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में
साँवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में।।

अनुपम प्रेम जगे जीवन में,
तन मन रंग जाए तेरे रंग में,
कर रंगो की बौछार,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में,
साँवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में।।

रंग दो वृन्दावन की गलियां,
ग्वालन गोपिन और सब सखियाँ,
रंग की मारो ऐसी धार,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में,
साँवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में।।

हर पल तेरा रूप निहारूं,
सोवत जागत तोहे पुकारूँ

हर पल तेरा रूप निहारूं,
सोवत जागत तोहे पुकारूँ,
कर दो बेडा मेरा पार,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में,
साँवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में।।

सांवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में,
साँवरिया ऐसा डाल गुलाल,
मैं रंग जाऊं तेरे रंग में ।।

Leave a Reply