सांवरिया ओ मेरे सांवरिया

सांवरिया ओ मेरे सांवरिया
सांवरिया ओ मेरे सांवरिया
राधा के मोहन प्यारे
तुहि सबके काज सँवारे
चले दुनिया तेरे इशारे
सांवरिया ओ मेरे सांवरिया

तुझको ही पल पल मैं ध्याऊ
दिल की जो भी तुझे ही सुनाऊ
ओ मेरे कृष्णा कन्हैया
सुन मेरे मुरली बजैया
सुध बुध तेरे चरणों च रहिये
सांवरिया ओ मेरे सांवरिया

तुझको ही पल पल मैं ध्याऊ
दिल की जो भी तुझे ही सुनाऊ
ओ मेरे कृष्णा कन्हैया
सुन मेरे मुरली बजैया
सुध बुध तेरे चरणों च रहिये
सांवरिया ओ मेरे सांवरिया

मन में सदा ही बसाया है तुझको
तेरे बिना कोई भाया न मुझको
सुन मेरी भी अर्जई
तेरे बिना न कोई
तकदीर जगा दो सोई
सांवरिया ओ मेरे सांवरिया

सांवरिया ओ मेरे सांवरिया
माखन भोग मैं लाया
जसम ने भी शीश झुकाया
जो आया तेरे द्वारे
दुःख हारता उसके सारे
दुखियो को लगा दे किनारे
सांवरिया ओ मेरे सांवरिया

Leave a Reply