सुन हे शिव के लाला गोरी मईया के दुलारे

सुन हे शिव के लाला गोरी मईया के दुलारे,
रिधि सीधी के स्वामी सुनो देव घनो के प्यारे ,
अपनी शरण में लेलो हम है इस दुनिया से हार।।

हम ने सुना है सब से पेहले करे तुम्हारा जो वंदन,
काम सफल हो जाते उस के कट ते भव के बंदन,
तुम से है विनती ये मेरी प्रभु रखलो ध्यान हमारा,
दीन हीन सब है घनायक बस तेरे ही सहारे,
सुन हे शिव के लाला गोरी मईया के दुलारे।।

तुम्हे मिला है शिव से ही वर मंगल तुम हो करते
अपने भगत जनों के गणपति विघन सभी तुम हरते,
बिन तेरे किरपा गणपति नही मेरा गुजारा,
दुनिया के ठुकराए हम सब आन पड़े तेरे द्वारे,
सुन हे शिव के लाला गोरी मईया के दुलारे।।

बुधिमान तुम जैसा देव कोई दुनिया में न पाया,
मात पिता को मान ये जग तुमने फेरा लगाया
तेरे द्वार से कोई भी देवा गया कभी नही खाली,
अपनी बुधि के बल पर तूने सब के काज सवारे,
सुन हे शिव के लाला गोरी मईया के दुलारे।।

Sun He Shiv Ke Lala Gori Maiya Ke Dulare
Ridhi Sidhi Ke Swami Suno Dev Ghano Ke Pyare
Apni Sharan Mein Lelo Ham Hai Is Duniya Se Haare

Ham Ne Suna Hai Sab Se Pehale Kare Tumhara Jo Vandan
Kam Saphal Ho Jate Us Ke Kat Te Bhav Ke Bandan
Tum Se Hai Vinati Ye Meri Prabhu Rakhalo Dhyan Hamara
Deen Hin Sab Hai Ghan Nayak Bas Tere Hi Sahare
Sun He Shiv Ke Lala Gori Maiya Ke Dulare

Tumhe Mila Hai Shiv Se Hi Var Mangal Tum Ho Karate
Apane Bhagat Janon Ke Ganpati Vighan Sabhi Tum Harate
Bin Tere Kirapa Ganpati Nahi Mera Gujara
Duniya Ke Thukarae Ham Sab An Pade Tere Dvare
Sun He Shiv Ke Lala Gori Maiya Ke Dulare

Budhiman Tum Jaisa Dev Koi Duniya Mein Na Paya
Mat Pita Ko Man Ye Jag Tumane Phera Lagaya
Tere Dwar Se Koi Bhi Deva Gaya Kabhi Nahi Khali
Apni Budhi Ke Bal Par Tune Sab Ke Kaj Savare
Sun He Shiv Ke Lala Gori Maiya Ke Dulare

This Post Has One Comment

Leave a Reply