सेवा में गुजरे वक़्त हनुमान का ऐसा है सेवक श्री राम का

सेवा में गुजरे वक़्त हनुमान का
ऐसा है सेवक श्री राम का।।

राम पे जब विपदा आई हर मुश्किल आसान किया
हर्षित हो कर रघुराई हनुमत को समान दिया,
भाई तू तो निकला है बड़े काम का
ऐसा है सेवक श्री राम का।।

राम नाम की ओड चुनर बन के राम का मतवाला
पाँव में बाँधे गुंगरु मस्ती में नाचे बाला
बन के दीवाना ये तो राम नाम का
ऐसा है सेवक श्री राम का।।

चरणों में ये रेहते सदा शिगासन पे राम सिया
कुंदन सब कुछ हनुमत ने प्रभु राम पे वार दिया
रखता न ध्यान देखो अपने आराम का
ऐसा है सेवक श्री राम का।।

Leave a Reply