हम आज पवन सूत हनुमान की कथा सुनते है – हनुमान कथा

हम आज पवन सूत हनुमान की
कथा सुनते है पावन कथा सुनते है

वीरो के वीर उस महावीर की गाथा गाते है
हम कथा सुनते है
जो रोम रोम में सिया राम की छवि बसाते है
पावन कथा सुनते है

वीरो के वीर उस महावीर की गाथा गाते है
गाथा गाते है
हम कथा सुनते है

हे ज्ञानी गुण के निधान
जाई महावीर हनुमान

कुंजी कास्थिला नाम था जिसका
स्वर्ग की थी सुंदरी

वानर राज कुंजर के घर जन्मी
नाम हुआ अंजनी

कपि राज केसरी ने
उससे ब्याह रचाया था

गिरी नाका शृंग पेर क्या
आनंद मंगल च्चाया था

राजा केसर को अंजना का
रूप लुभाया था

देख देख अंजनी को
उनका मान हरषाया था

वैसे तो उनके जीवन में
थी सब खुश हाली

परंतु गोद अंजनी मा की
संतान से थी खाली

अब सुनो हनुमत कैसे
पवन के पुत्रा कहाते है
पावन कथा सुनते है
बजरंगबली यूयेसेस महाबली की
गाथा गाते है
हम कथा सुनते है

हे ज्ञानी गुण के निधान
जाई महावीर हनुमान

पुत्रा प्राप्ति कारण
अंजना तप कीन्हा भारी

मातंग मुनि हो प्रसन्ना हुए
अंजना के हितकारी

बोले मुनि वात्कचल जाओ
हे देवी अंजना
वतवेशवर भगवान को जप
और ताप से प्रसन्ना करना

अंजना ने आकाश गांग
का पावन जल पिया

घोर तपस्या करके वायु देव
को प्रसन्ना किया

अंजनी मा को स्पर्श किया
वायु का एक झोका

पवन देव हो प्रगट उन्हे
फिर पुत्रा प्रदान किया

इस कारण बजरंग
पवन देव के पुत्रा कहाते है

बजरंगबली उस महाबली की
गाथा गाते है हम कथा सुनते है

हे ज्ञानी गुण के निधान
जाई महावीर हनुमान

हम आज पवन सूत हनुमान की कथा सुनते है
हम आज पवन सूत हनुमान की कथा सुनते है।।

Hum Aaj Pawan Sut Hanuman Ki
Katha Sunate Hai
Paawan Katha Sunte Hai

Veero Ke Veer Uss Mahaveer Ki Gatha Gaate Hai
Hum Katha Sunate Hai
Jo Rom Rom Mein Siya Ram Ki Chhavi Basate Hai
Paawan Katha Sunte Hai

Veero Ke Veer Uss Mahaveer Ki
Gatha Gaate Hai
Hum Katha Sunate Hai

Hey Gyani Gun Ke Nidhaan
Jai Mahaveer Hanuman

Kunji Kasthila Naam Tha Jiska
Swarg Ki Thi Sundari

Vaanar Raj Kunjar Ke Ghar Janmi
Naam Hua Anjani

Kapi Raj Kesari Ne
Usse Byaah Rachaya Tha

Giri Naka Shring Per Kya
Anand Mangal Chhaya Tha

Raja Kesar Ko Anjana Ka
Roop Lubhaya Tha

Dekh Dekh Anjani Ko
Unka Man Harshaya Tha

Vaise To Unke Jeevan Mein
Thi Sab Khush Haali

Parantu God Anjani Maa Ki
Santaan Se Thi Khaali

Ab Suno Hanumat Kaise
Pawan Ke Putra Kahaate Hai
Paawan Katha Sunate Hai
Bajrangbali Uss Mahabali Ki
Gatha Gaate Hai
Hum Katha Sunate Hai

Hey Gyani Gun Ke Nidhaan
Jai Mahaveer Hanuman

Putra Prapti Karan
Anjana Tap Keenha Bhari

Matang Muni Ho Prasanna Hue
Anjana Ke Hitkaari

Bole Muni Vatkachal Jao
Hey Devi Anjana
Vatveshwar Bhagwan Ko Jap
Aur Tap Se Prasanna Karna

Anjana Ne Aakash Gang
Ka Paawan Jal Piya

Ghor Tapsya Karke Vaayu Dev
Ko Prasanna Kiya

Anjani Maa Ko Sparsh Kiya
Vaayu Ka Ek Jhoka

Pawan Dev Ho Pragat Unhe
Fir Putra Pradan Kiya

Iss Karan Bajrang
Pawan Dev Ke Putra Kahaate Hai

Bajrangbali Uss Mahabali Ki
Gatha Gaate Hai
Hum Katha Sunate Hai

Hey Gyani Gun Ke Nidhaan
Jai Mahaveer Hanuman

Hum Aaj Pawan Sut Hanuman Ki
Katha Sunate Hai

Leave a Reply