हे मईया है तू ही बस मेरी

दुनिया में सपना है सब कुछ हर माया का डेरा,
हे मईया है तू ही बस मेरी।।

सुख का सूरज ढलता जाए
दुःख घनघोर अँधेरा
सुख तू है दुःख मेरा जीवन
यह जग रेहन बसेरा
हे मईया है तू ही बस मेरी।।

सत्ये सभा में सिमट गया है
झूठे कपट का घेरा,
आये पड़ो हे खप्पर वाली हिरदये पुकारे मेरा
हे मईया है तू ही बस मेरी।।

कौन सुनेगा दुखियो का दुःख हे आंबे बिन तेरे,
काहे दिनेश हे महारानी सोहू जी लगाये नारा
हे मईया है तू ही बस मेरी।।

Duniya Mein Sapna Hai
Sab Kuchh Har Maya Ka Dera
He Maiya Hai Tu Hi Bas Meri

Sukh Ka Suraj Dhalata Jae
Duhkh Ghanaghor Andhera
Sukh Tu Hai Duhkh Mera Jivan
Yah Jag Rehan Basera
He Maiya Hai Tu Hi Bas Meri

Satye Sabha Mein Simat Gaya Hai
Jhuthe Kapat Ka Ghera
Aye Pado He Khappar Wali
Hirdaye Pukare Mera
He Maiya Hai Tu Hi Bas Meri

Kaun Sunega Dukhiyo Ka Duhkh He Ambe Bin Tere
Kahe Dinesh He Maharani Sohu Ji Lagaye Nara
He Maiya Hai Tu Hi Bas Meri

Latest bhajans and lyrics in hindi songs and lyrics collections

Durga Ji Bhajan Lyrics

Leave a Reply