aa jao mohan baba hum tumhe pukaarte

आ जाओ मोहन बाबा हम तुम्हें पुकारते
ओ खोली वाले बाबा तेरी राह निहारते॥

तेरे दर पे ओ बाबा जी आये सवाली हैं आये सवाली हैं
भक्तों का अपने बाबा तू ही रखवाली हैं तू ही रखवाली हैं
संकट काटो ओ बाबा हम तुम्हें पुकारते…

तेरी दौज पै ओ बाबा जी करते भंडारा हैं करते भंडारा हैं
नीले घोड़े पै जब आवैं तू लागै प्यारा है तू लागै प्यारा है
आकर कै भोग लगाओ हम तुम्हें पुकारते…

जब जब तेरे भक्तों पै कोई संकट आता है कोई संकट आता है
संकट को दूर भगाने तू दौड़ा आता है तू दौड़ा आता है
तेरे भगत ने गद्दी लगाई मिलकै तुम्हें पुकारते…

मत देर लगाओ बाबा अब जल्दी आ जाओ अब जल्दी आ जाओ
तुम धाम मिलकपुर का बाबा जयकारा लगा जाओ जयकारा लगा जाओ
अमित शर्मा दर्श का प्यासा तू इसको तार दें……

Leave a Reply