aahe tane ke mil jaayega pagli chugli meri teri me

आहे तन्ने के मिल ज्यागा पगली चुगली मेरी तेरी मै
चुगली मेरी तेरी मै चुगली मेरी तेरी मै
आहे तन्ने के मिल ज्यागा पगली चुगली मेरी तेरी मै

कर के निंदा खुश होइ मन में,
जान के आग लगा वे तन में
इक दिन बीते गी तेरे संग में धोब गी मैं हीरा फेरा में,
आहे तन्ने के मिल ज्यागा पगली चुगली मेरी तेरी मै

पापी पाप कारण से फुले पिके भांग नशे में धुले,
ईतवर इक घोट में न घुले कदे न आवे घेरी रे ,
आहे तन्ने के मिल ज्यागा पगली चुगली मेरी तेरी मै

जब तक रहता पूण का पेहरा,
निजे पाप का प्यार है गेहरा,
पाके खूब देखना लेहरा,
सच्चा नयाए कचेहरी में,
आहे तन्ने के मिल ज्यागा पगली चुगली मेरी तेरी मै

कहे हरी सवर पे झट ते सीटी,
जोड़ बनावट चागी बीती,
हो गी खूब फचीती सा साधु के देरी में,
आहे तन्ने के मिल ज्यागा पगली चुगली मेरी तेरी मै

Leave a Reply