aaj bigo de humko baba bhakti ki ras dhaar me baba tere pyaar me naache ge darbar me

आज भिगो दे हमको बाबा भक्ति की रस धार में,
बाबा तेरे प्यार में नाचे गे दरबार में,

दुनिया ने जो ठुकराया वो तेरी शरण में आया,
सच्चा साथी बना श्याम तो मंजिल पे पहुंचाया,
देव दयालु नहीं तुम सा कोई भी संसार में,
आज भिगो दे हमको बाबा भक्ति की रस धार में,
बाबा तेरे प्यार में नाचे गे दरबार में,

तेरी सेवा करते करते बीते जीवन सारा,
जब जब ढोली जीवन नैया पकड़ा हाथ हमारा,
एक इशारा करदे बाबा नाव पड़ी मझदार में,
आज भिगो दे हमको बाबा भक्ति की रस धार में,
बाबा तेरे प्यार में नाचे गे दरबार में,

तेरा दर्शन जिसको मिलता उसके तो क्या कहने,
नैन नैन से मिले तो नरसी लगते आंसू बहने,
तेरी सूरत दिखती हमको इन अशवनो की धार में,
आज भिगो दे हमको बाबा भक्ति की रस धार में,
बाबा तेरे प्यार में नाचे गे दरबार में,

This Post Has One Comment

Leave a Reply