aake maiya de dwaare uto manglo jihda jihda jee karda

खोल ते खजाने आज माँ ने दरबार दे मुकने नहीं एथे कदे लगे भण्डार ने,
भोरा संगो न मैया दे कोलो मंग लो जिहदा जिहदा जी करदा,
आके मैया दे द्वारे उतो मंगलो जिहदा जिहदा जी करदा,

मैया दे द्वारे उते रोनका ने लगाइयाँ,
कई आऊं स्यीक्ला ते कई लेके गड्डियां,
माँ दे नाम विच तन मन रंग लो जिहदा जिहदा जी करदा,
आके मैया दे द्वारे उतो मंगलो जिहदा जिहदा जी करदा,

ठंडी ठंडी भवना ते पोन माँ दे चलदी,
लेके जो संदेसा आये भगता दे वल दी,
इहो मौका हूँ माँ दे कोलो मंग लो जिहदा जिहदा जी करदा,
आके मैया दे द्वारे उतो मंगलो जिहदा जिहदा जी करदा,

होया की जे माँ दे दर उचियाँ चढ़ाइयाँ ने,
बीरा ले तू नाम माँ दा तेरियां भलाइयां ने,
देकु वाले नु भी न संग को जिहदा जिहदा जी करदा,
आके मैया दे द्वारे उतो मंगलो जिहदा जिहदा जी करदा,

Leave a Reply