akhaaa thak gaiyan takk takk rah

अख्खां थक्क गईआं तकक तक्क राह,
एक वारी आजा जोगियां,
नी मेनू तेरे मिलन दा चाह,
एक वारी आजा जोगियां,
अख्खां थक्क गईआं तकक तक्क राह
एक वारी आजा जोगियां,

सारी सारी रात मेनू नींद नहियो औनदी ऐ,
एक ते जुदाई दूजा तेरी याद स्ताउन्दी ऐ,
ओ रोग कहो जेहा दिता मेनू ला.
एक वारी आजा जोगियां,

प्रेम दी जंजीर पा के तू ते गया नस वे,
होवेगा दीदार किवे एह वी जरा दसा दे,
ओ हाल दिल वाला दिता ए सुना,
एक वारी आजा जोगियां…

जदों दा पौनाहारी तेनु दिल च बसाया ऐ,
दुसरा न कोई मेरे दिल च समाया ऐ,
ओ हूँ खुश रख भावे तू रवा,
एक वारी आजा जोगियां,

मैं ता तेरे कोलो कोई भेद न छुपाया वे,
मैं ता तेरा होया पर तू ना मेरा होया वे,
ओ मेरा दूधधारी वे परवाह,
एक वारी आजा जोगियां,

भगता दा वेडा बाबा भंवरा च फसाया,
तेरे ते भरोसा पर तू क्यों सहनु भुलाया,
ओ आ के बेडा साडा पार लगा
एक वारी आजा जोगियां,

Leave a Reply