bala ji darsh dikha do mere sankat dur hta do

बाला जी दर्श दिखा दो मेरे संकट दूर हटा दो,
चरणो मे मुझे लगा के अब जीना मुझे दिखा दो,
अंजनी के लाल बाला जी ,
करदो न कमाल बाला जी.

मेहंदीपुर में बाला जी का सोहना भवन बना है,
सालासर में बाला जी का थारा डंका खूब बजा है,
हां करके छैना बजाओ और राम नाम गुण गाओ,
अपनी किरपा बरसा के भक्तो की प्यास भुजाओ,
अंजनी के लाल बाला जी ,
करदो न कमाल बाला जी.

मैं दीं दुखी हु बाबा कभी मेरे घर भी आओ,
मैं कब से राह निहारु मेरी बिगड़ी बार बनाओ,
मैं दर्शन का प्यासा हु मुझे अब तो दर्श दिखाओ,
जो भी है रुखा सूखा बस उसका भोग लगाओ,
अंजनी के लाल बाला जी ,
करदो न कमाल बाला जी.

आया शरण तुम्हारी जो भी है जग से हारा,
जिस पर की तूने पूजा वो भवसागर से उतारा,
सनी सूफी है सेवक इसे देदो जरा सहारा ,
गाये गा जीवन बर ये बाबा गुण गान तुम्हरा,
अंजनी के लाल बाला जी ,
करदो न कमाल बाला जी.

Leave a Reply