bhagta di khair jholi paaun aau hai bholi maa

भगता दी खैर झोली पाउन आई है,
भोली माँ भोली माँ,
जागे वाली रात रुशनोन आई है,
भोली माँ भोली माँ,

भगता दे सच्चे सूचि श्रद्धा नु देख के,
मुँह विचो माँ माँ सुन के हर एक दे,
मावा वाला फ़र्ज़ निभाऊं आई है
भोली माँ भोली माँ,

दुःख सुख बच्या दा सुनेगी जरूर माँ,
भगता दे कश्ता नु करू आज दूर माँ,
सूखा दियां झड़ियां लगाऊं आई है भोली माँ,

चरब दोमेली कहे तड़ियाँ भजाओ जी,
दीप गर्ग दे नाल सारे गाओ जी,
बच्या दी बिगड़ी बनाऊन आई है,
भोली माँ भोली माँ,

दुर्गा भजन

Leave a Reply