ओ मैया तेरे दरबार, में हां तेरे दीदार की मैं आऊंगा

भेजा है बुलावा, तूने शेरा वालिए
मैया तेरे दरबार, में हां तेरे दीदार की मैं आऊंगा
कभी न फिर जाऊँगा…

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए
नी सच्चियाँ ज्योता वालिए, लाटा वालिए

तेरे ही दर के हैं हम तो भिखारी,
जाएं कहा यह दर छोड़ के, हां छोड़ के ।
तेरे ही संग बंधी भक्तो ने डोरी,
सारे जहां से नाता तोड़ के, हां तोड़ के ॥

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए…
भवना वालिए नी माता लाटा वालिए…

फूलों में तेरी ही खुशबु है मैया,
चंदा में तेरी ही चांदनी, हां चांदनी ।
तेरे ही नूर से है नैनो की ज्योतिया,
सूरज में तेरी ही रौशनी, हां रौशनी ॥

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए…

bheja hai bulava tune shera waliye

bheja hai bulaava, toone shera vaalie
o maiya tere darabaar, me haan tere deedaar ki mainaaoongaa
kbhi n phir jaaoongaa…


sheraavaaliye ni maata jyota vaalie
ni sachchiyaan jyota vaalie, laata vaalie

tere hi dar ke hain ham to bhikhaari,
jaaen kaha yah dar chhod ke, haan chhod ke
tere hi sang bandhi bhakto ne dori,
saare jahaan se naata tod ke, haan tod ke ..

sheraavaaliye ni maata jyota vaalie…
bhavana vaalie ni maata laata vaalie…

phoolon me teri hi khushabu hai maiya,
chanda me teri hi chaandani, haan chaandanee
tere hi noor se hai naino ki jyotiya,
sooraj me teri hi raushani, haan raushani ..

sheraavaaliye ni maata jyota vaalie…
bhavana vaalie ni maata laata vaalie…

bheja hai bulaava, toone shera vaalie
o maiya tere darabaar, me haan tere deedaar ki mainaaoongaa
kbhi n phir jaaoongaa…

Leave a Reply