bheruji nana nana thare baaje gugra

भेरू जी के चौक में नीमडी की छाया
छोरो माग्यो छोरी दीदी भेरुजी की माया

भेरुजी नाना नाना थारे बाजे घुघरा
भेरुजी नाना नाना थारे बाजे घुघरा
थारे बाजे बाजे झालर की झंकार
नखरालो खेले घुघरा
मतवालों खेले घुघरा

भेरूजी दूध तो पियो नी दारू छोड़ दो
थे तो छोड़ो छोडा कलाली को हेत
नखरालो खेले घुघरा
मतवालों खेले घुघरा

भेरुजी उबी रे कुमारण देवे ओलबा
म्हार कलशया माई ने कीनो नुकसान
नखरालो खेले घुघरा
मतवालों खेले घुघरा

भेरुजी उबी रे गुजर की देवे ओलबा
म्हारा जावणिया मे कीनो नुकसान
नखरालो खेले घुघरा
मतवालों खेले घुघरा

भेरुजी उबी रे मालन की देवे ओलबा
म्हार बाढचा माई ने कीनो नुकसान
नखरालो खेले घुघरा
मतवालों खेले घुघरा

भेरुजी नाना नाना थारे बाजे गुगरा
भेरुजी नाना नाना थारे बाजे गुगरा
थारे बाजे रे बाजे झालर की झंकार
नखरालो खेले घुघरा
मतवालों खेले घुघरा

Leave a Reply