bhole ke chele bade hai albele bhuti bhole ki chada ke kandhe kawad utha ke

भोले के चेले बड़े हैं अलबेले,
भूति भोले की चढ़ा के कंधे कांवड़ उठा के,
सब छोड़ के झगडे झमेले,
भोले के चेले बड़े हैं अलबेले

ओ दी जे वाले तू साउंड बड़ा ले,
कोई लाज ना लिहाज नाचू झूम झूम आऊ,
चाहे पाँव में पड़ गए छाले,
भोले के चेले बड़े हैं अलबेले

ये काले बादल भोले के है काजल,
भीगे काजल की धार जब पड़े है फुहार,
कहे मन भोले के दर चल ले,
भोले के चेले बड़े हैं अलबेले…….

जीत तेरी होगी तू भोले का है जोगी,
जीतू कावड़ सम्बाल भोले रखे गे ख्याल,
अब छोड़ दे झड़े ज्मेले,
भोले के चेले बड़े हैं अलबेले…….

Leave a Reply