bhole tere darbar me aaye jo ik baar

भोले तेरा दरबार में आये जो इक बार,
कष्ट मिटे सब उसका मिल जाये तेरा प्यार,
भोले तेरा दरबार में आये जो इक बार,

तुम ही हो पालनकरता तुम से सारे संसार,
कोई जाये न दर से खाली तेरी महिमा अप्रम पार,
मेरी भी विनती सुन ले दिल से करू पुकार,
भोले तेरा दरबार में आये जो इक बार,

तुम देवो के देव हो तेरी लीला अगम अपार,
तू फेर दे नजरे मुझपे नजरे करू विनती बाराम वार,
पालन करता भोले तुम श्रिस्ति के आधार,
भोले तेरा दरबार में आये जो इक बार,

Leave a Reply