bolo raam bolo ram sukh bhi tere dukh bhi tera sab me teri chaya

सुख भी तेरा दुःख भी तेरा सब में तेरी छाया है,
सुख दुःख दोनों तेरे प्रभु जी सब तेरी माया है,
बोलो राम बोलो राम बोलो राम जय जय राम,
सिया राम सिया राम सिया राम जय जय राम,

अपने अपने कर्मो से हम सुख और दुःख को पाते है,
जैसा कर्म करे जीवन में वैसे ये मिल जाते है,
पेड़ लगाया नीम का तो फल मीठा किसने खाया है,
सुख दुःख दोनों तेरे प्रभु जी सब तेरी माया है,
बोलो राम बोलो राम बोलो राम जय जय राम,

भाग रहे इस दुनिया में हम सारे सुख के पीछे,
न जाने कब मिल जाये ये दुःख हम को आखे मिचे,
दोश न तुझको दे हम आके कर्मो का फल आया है,
सुख दुःख दोनों तेरे प्रभु जी सब तेरी माया है,
बोलो राम बोलो राम बोलो राम जय जय राम,

मन में ज्ञान की ज्योत जला कर सत कर्मो में दीन रहे,
इतना दो वरदान हमें हम तुझमे ही लीं रहे,
तेरा अमृत समज के हमने ये जीवन अपनाया है.
सुख दुःख दोनों तेरे प्रभु जी सब तेरी माया है,
बोलो राम बोलो राम बोलो राम जय जय राम,

Leave a Reply