cheti bhawna te bula le

छेती भवना ते बुला ले नच्दा गाऊंगा आवा मै
दर ते आवा मैं तेरा दर्शन पावा मैं
दर्शन पाके भंगडे पावा जय जय कार बुलावा मैं
छेती भवना ते बुला ले नच्दा गाऊंगा आवा मै

ठंडियाँ ठंडियाँ मस्त हवावा कोयल कु कु बोले
उचे पर्वत बैठी मैया अपनिया बाहा खोले
ठंडा वान गंगा दा पानी सब दे दिल नु मोह ले
छेती भवना ते बुला ले नच्दा गाऊंगा आवा मै

चरण पादुका दर्शन करके अर्धकवारी जाना,
सांझी छत ते बेह के मैया तेरा नाम ध्याना,
हाथी मथा कठिन चडाई पर मैं नही गबराना,
छेती भवना ते बुला ले नच्दा गाऊंगा आवा मै

भवन पोहंच के पिंडी रूप दा पावन दर्शन पाना
दिल विच रूप बसा के सोहना जीवन सफल बनाना
दर्शन फिर भेरो दे करके वापिस घर के आना
फिर बत्रा नु बुला के घर जागा करवावा मैं
छेती भवना ते बुला ले नच्दा गाऊंगा आवा मै

दुर्गा भजन

Leave a Reply