chlo re bhai jal ko chadaane bhole ke darbar me

हर हर बम बम गूंज रहा है अब सारे संसार में,
चलो रे भाई जल को चढ़ाने भोले के दरबार में,

बड़े दयालु बाबा हमारे कष्ट सभी वो हर लेंगे,
सच्चे दिल से याद करो बाबा भंडारे भर लेंगे,
झूम रहे है देखो कावड़िया दी जे झंकार में,
चलो रे भाई जल को चढ़ाने भोले के दरबार में,

सभी डगर है मगर न देखो पैरो के तुम छालो को,
जीवन अपना सौंप दो सारा बाबा डमरू वाले को,
सच्चा नाम है शिव शम्भू का इस सारे संसार में,
चलो रे भाई जल को चढ़ाने भोले के दरबार में,

निकल पड़े है सारे कावड़ियाँ लेकर कावड़ हाथ में,
खा कर बाबा की भुटटी सब झूम रहे है साथ में,
डूभ गए है हम भी तो अब भोले जी के प्यार में,
चलो रे भाई जल को चढ़ाने भोले के दरबार में,

Leave a Reply