deewana ho geya shyam ji ka

जलवा कम न होगा मेरे खाटू के दरबार का
मैं हो गया दीवाना मेरे श्यामजी के प्यार का
मैं घना दीवाना हो गया इस कलयुग के अवतार का,

हाथ में निशान लेके जाऊ खाटू धाम मैं
अन मन धन वारु प्यारे श्री श्याम पे
छोटा सा मंदिर बनवाऊ मेरे लख दातार का
मैं हो गया दीवाना मेरे श्यामजी के प्यार का

मेरे श्याम की यारी में नफा ही नफा
मेरे श्याम की महोबत में वफा ही वफा
ये ही तो मजा है असली भगतो के प्यार का
मैं हो गया दीवाना मेरे श्यामजी के प्यार का

सारी ऐश अमेरी मेरी बंद हो रही से
श्याम जी की किरपा से चांदी हो रही से
डर न कमल सिंह किसे जीत हार का
ही तो मजा है असली भगतो के प्यार का
मैं हो गया दीवाना मेरे श्यामजी के प्यार का

Leave a Reply