dhol baaje re nagada baaje re radha gori ke sang me govinda naache re

ढोल बाजे रे नगाड़ा बाजे रे राधा गोरी के संग में गोविंदा नाचे रे,
उड़त गुलाल लाल बई बदरी लाल बाई सब मथुरा नगरी,
चंग बाजे रे मिरदंग बाजे रे राधा गोरी के संग में गोविंदा नाचे रे,

अरे होली खेले नंदलाला ब्रिज में,
होलिया में उड़े रे गुलाल कहियो रे मेरे नटवर से,
उड़त गुलाल लाल बई बद्री लाल बई सब मथुरा नगरी ,
जैसे चकोरी संग चंदा नाचे रे,
राधा गोरी के संग में गोविंदा नाचे रे,

इक और गोकुल के ग्वाला दूजी और बरसाने की बाला,
आज ब्रिज में होली रे रसियां,
होली रे होली रे बजजोरी रे रसिया,

पकड़ो न भइया मोरी जा रे जा खोटी नीतय है तेरी,
ऐसे न कर जोरि जोरि जा रे जा खोटी नीतय है तेरी,

ढोल बाजे रे नगाड़ा बाजे रे राधा गोरी के संग में गोविंदा नाचे रे,

Leave a Reply