dil se bhulaate hai tujhko teri karte jai jai kaar

दिल से भुलाते है तुझको तेरी करते जय जय कार,
कीर्तन में आओ बाबा होके नीले पे असवार,
दिल से भुलाते है तुझको तेरी करते जय जय कार,

रंग बिरंगे फूलो से सजा बाबा तेरा दरबार ये,
चारो और महक रहा इतर खुसबू दार ये,
बस तेरी कमी है बाकी ना देर करो सरकार,
दिल से भुलाते है तुझको तेरी करते जय जय कार

बैठे तेरे दर्श के प्यासे अब तो दर्श दिखाओ न,
मोर छड़ी लहरा कर बाबा अपनी किरपा बरसाओ न,
बड़ी आस लगाए बैठे तेरे प्रेमी कई हज़ार,
दिल से भुलाते है तुझको तेरी करते जय जय कार,

कीर्तन में तेरे नाम की मस्ती देखो कैसे बरस रही,
रूबी रिदम की अखिया तुझको देखन खातिर तरस रही,
तेरी सेवा में खड़ा है बाबा पूरा मेरा परिवार,
दिल से भुलाते है तुझको तेरी करते जय जय कार,

Leave a Reply