dil vo kanhiya le geya

मीठे मीठे सपने देके भाग गया सब लेके,
दिलासा दे गया दिल वो कन्हियाँ ले गया,
राणा जी वो मेरा दिल वो कन्हियाँ ले गया,

हुई रे दीवानी श्याम पिया की,
हालत कहु क्या अपने जिया की,
उतरे न चढ़ गया जो जादू,
मिल जाये बस वो कुछ भी ना मांगू ,
वीराना गुलशन हो जाये कन्हियाँ फिर तू,
मिल जाये तमना पूरी हो जाये ो संवारा,
मीठे मीठे सपने देके भाग गया सब लेके दिलासा दे गया,
दिल वो कन्हैया ले गया

प्रीतल मेरी तोल कन्हियाँ आजा रे कुछ बोल कनियाँ,
मीरा नहीं मैं राधा नहीं हु,
जैसी हु कम भी नहीं हु,
घटाए गिर गिर आती है बड़ा मुझको तड़पाती है,
तेरी याद जो आती है ो सांवरा,
मीठे मीठे सपने देके भाग गया सब लेके दिलासा दे गया,
दिल वो कन्हैया ले गया

मस्त चले है जीवन नाइयाँ आप बने हो जग से खिवैया,
लेहरी हु लजा रखले कन्हियाँ पार लगा दे थाम के भहिया,
झलक तू अपनी दिखला दे ये आवा गमन मिटा तू दे चैन की बंसी बजा तू दे,
ओ सांवरा
मीठे मीठे सपने देके भाग गया सब लेके दिलासा दे गया,
दिल वो कन्हैया ले गया

This Post Has One Comment

  1. Pingback: dil vo kanhiya le geya – bhakti.lyrics-in-hindi.com – tineb.org

Leave a Reply