gaaua ratano maiyan diyan chaariyan ne

पौनाहारी करा की सिफत तेरी,
तेरियां खेडा जग तो न्यारियाँ ने,
थले बोहड़ दे बन्दगी तू किती,
गऊआं रतनो मइयां दियां चारियाँ ने,

केसा अजब नजारा माता दे प्यार दा जी,
गऊआं रत्नों मइयां दियां….
जोगी चारदा जी गौआ रतनो मैया दियां,
हो पौनाहारी चारदा……..

केसा अजब नजारा माता दे प्यार दा,
गऊआं रतनो मइयां दियां,
जोगी चारदा जी गऊआं रतनो मइयां दियां,
हो पौनाहारी चारदा……

आप बेठा बोहड़ थले हो के नाम च निहाल,
खेत गऊआं ने उजाड़े इक एह भी सी कमाल,
भेद जांदा ना कोई मेरी सरकार दा होये.
गऊआं रतनो मइयां दियां….
जोगी चारदा जी गऊआं रतनो मइयां दियां,
हो पौनाहारी चारदा……..

माता रत्नों नु जदों विच थाणे दे भुलाया,
गऊआं तेरियां ने फसला नु मिटी च मिलाया,
मारे कल्ला कल्ला ताहने दिल नि सहारदा होये,
गऊआं चरदा जी गऊआं रतनो मियाँ दियां,
हो पौनाहारी चारदा……..

माँ हां शिव दा पुजारी माता जाने सारा जग,
मेरा किता अपमान ऐवे लोकी पिशे लग,
खेत हरे भरे सारे जग झूठ मारदा होये,
गऊआं रतनो मइयां दियां
गऊआं चरदा जी गऊआं रतनो मियाँ दियां,
हो पौनाहारी चारदा……

Leave a Reply