haara mai to haara tu haare ka sahara ab to khatu vale bharosa hai tumhara

हारा मैं तो हारा तू हारे का सहारा,
अब तो खाटू वाले भरोसा है तुम्हारा,

बाबा मैं तो समज ना पाया कौन है अपना कौन है पराया,
दिल में चोट लगा कर जग ने मुझको सो सो आंसू रुलाया,
तू है तो दुबे ना किस्मत का सितारा,
हारा मैं तो हारा तू हारे का सहारा…….

उजड़ रही है बगियाँ हमारी सुक रही मन की फूल वरि,
तेरी दया का जो सावन भरसे हरी भरी हो जाए करयारी,
इस जीवन में तेरे हो प्रेम की धारा,
हारा मैं तो हारा तू हारे का सहारा,

मुझको बाबा गल्ले लगा लो अपनी शरण में श्याम वसा लो,
चोखानी की भूल भुला कर चरणों का दास बना लो,
तेरी सेवा में ही हो अपना गुजारा,
हारा मैं तो हारा तू हारे का सहारा,

Leave a Reply