he triloki udhaar kar chod ke aaya main jag tere dwaar par

छोड़ के आया मैं जग तेरे दवार पर,
अपनी किरपा से त्रिलोकी उधार कर,
उधार कर तू बेडा पार कर तू चमत्कार कर तू बेडा पार कर तू,
छोड़ के आया मैं जग तेरे दवार पर,

तू ही आदि तू ही अनंता तू ही जग का सार है,
हॉवे मनोहर पुराण यहाँ पर वो तेरा ही द्वार है,
शरणागत की लाज रखी है,
भक्त का मान रखा है,
खाली हाथ न लौटा दवार से चमत्कार ये किया है,
मैं भी अभागा आया तेरे द्वार पर अपनी किरपा से त्रिलोकी उधार कर,
उधार कर तू बेडा पार कर तू चमत्कार कर तू बेडा पार कर तू,
छोड़ के आया मैं जग तेरे दवार पर,

दीं हीं का तू रखवाला शिव शंकर मत वाला,
करता भला तू सब का जग में ऐसा भोला भाला,
तेरी दया से तेरी किरपा से सब कुछ सुलभ हुआ,
सुन ले अर्ज हमारी भोले बंदे जीवन सफल बना,.
बिगड़े काज बना तू चमत्कार कर अपनी किरपा से त्रिलोकी उधार कर,
उधार कर तू बेडा पार कर तू चमत्कार कर तू बेडा पार कर तू,
छोड़ के आया मैं जग तेरे दवार पर,

Leave a Reply