hum tumhare hai kawariyan shivam

हम तुम्हारे है कांवरियां शिवम्.
दर्शन बिना अब तो ना रुके गे कदम चलते जाये गे कदम,
हम तुम्हारे है कांवरियां शिवम् ….

भक्ति का मौसम छाया है मन में,
लेकर कावर हम निकले सावन में,
भोले बाबा त्रिपुरारी है शरण में हम तुम्हारी,
जगा दो मेरे कर्म,
हम तुम्हारे है कांवरियां शिवम्

ना बिना तेरे कोई अपना है,
तेरा दर्शन हो बस ये सपना है,
तुझको गंगा जल चढ़ा के,
तेरे दर्शन भोले पा के नाचे गे छम छमा छम,
हम तुम्हारे है कांवरियां शिवम् ….

Leave a Reply