hun aaja paunahaariyan

तेरे नाम दी ज्योत जगाई आ,
हुन आजा पौनहारिआ,
तेरे नाम दी चोंकी लगाई आ,
हुन आजा पौनहारिआ,
तेरे नाम दी ज्योत जगाई आ,
हुन आजा गौआ वालेया,

मंदिर सजाया धुना लगाया,
रोट मनी परशाद बनाया,
होई हर पासे रुसनाई आ,
हुन आजा पौनहारिआ
तेरे नाम दी ज्योत जगाई आ
हुन आजा पौनहारिआ

मोर सवारी करके आवो,
सब दियां झोलियाँ भरके जावो,
झोली तेरे भगता फेलाई आ,
हुन आजा पौनहारिआ
तेरे नाम दी ज्योत जगाई आ
हुन आजा सिगियाँ वालेया.

लै के बेठे सदरा लखा,
दीद तेरी नु तरसन अखा,
केहड़ी गल तो देरी लई आ,
हुन आजा पौनहारिआ
तेरे नाम दी ज्योत जगाई आ
हुन आजा चिमटे वालेया,

हथ जोड़ गल पला पा के,
खड़ा द्वारे सोहनी आ के,
नरिंदर ने महिमा तेरी गई आ,
हुन आजा पौनहारिआ
तेरे नाम दी ज्योत जगाई आ
हुन आजा धुनें वालेया

Leave a Reply