hun naa todi jogi ve mere prem vali dhor o prem vali dor jogi prem vali dor

हूँ ना तोड़ी जोगी वे मेरी प्रेम वाली डोर,
ओ प्रेम वाली डोर जोगी प्रेम वाली डोर,
हूँ ना तोड़ी जोगी वे…..

प्रेम तेरे विच पागल हो के तेरियां करा उडीका,
देखि किधरे तुर ना जावी पा के गुड प्रीता,
ओ पावा उची उची शोर मेरा चलदा नि जोर,
हूँ ना तोड़ी जोगी वे…..

टूटदियां टूटदी टूट जांदी ऐ ओह गल फेर न रेह्न्दी,
तेरे चरना दे विच बह के तेनु एह गल कहंदी,
ओ किते बनी न कठोर तेरे बिन ना कोई होर,
हूँ ना तोड़ी जोगी वे…..

पा के प्रीत तेरे नाल बाबा जोगन तेरी होई,
हालत मेरी ऐसी होई ना जाउन्दी न मोई,
ओ किते दिल ना देवी तोड़ मेरी तेरे हाथ ढोर,
हूँ ना तोड़ी जोगी वे…..

तेरी महिमा सुन के जोगियां दीओत सिद्ध मैं आई,
प्रीत माँ रत्नों दे वांगु चरना दे विच चढ़ तेरे लाइ,
ओ हूँ देर ना लाइ होर आजा चड़ के उते मोर ,
हूँ ना तोड़ी जोगी वे…..

Leave a Reply