ik baar bhajan karle Bhajan Lyrics

इक बार भजन करले मुक्ति का यतन करले
कट जायेगी चोरासी तू राम भजन करले,
इक बार भजन करले

ये चोला मानुष तन का हर बार नही मिलता,
जो गिर गया डाली से वो फूल नही खिलता ,
है वक्त के ओ बंदे तू राम भजन करले,
कट जायेगी चोरासी तू राम भजन करले,
इक बार भजन करले

कानो से अरे नर तू सुन ले अमृत वाणी
इस मन को मार कर के बना तू पूरा ग्यानी ,
अब गुरु शरण में तू जीवन को सफल करले
कट जायेगी चोरासी तू राम भजन करले,
इक बार भजन करले

यु व्यर्थ गवाना न जीवन की ये घड़ियाँ
अनमोल रत्न है ये मेरे सांसो की ये लड़ियाँ
जीवा न चले मुख से तू नाम जपन करले
कट जायेगी चोरासी तू राम भजन करले,
इक बार भजन करले

दीवानों की टोली में तू नाम लिखा अपना
फिर साफ़ नजर आये जीवन है एक सपना
इस झूठी दुनिया से बचने का यत्न करले,
कट जायेगी चोरासी तू राम भजन करले,
इक बार भजन करले

Leave a Reply