jab khatu nagari jana ye baat mat bhulana

जब खाटू नगर जाना ये बात मत भुलाना,
लूट ता वह खजाना खाली हाथ जाओ गये,
झोली भर के लाओ गये,

है सब को पता है सबको खबर जगत सेठ है नटवर नागर,
मंगते जो भी दर पर आते है मन की मुरादे वो पाते है,
दरबार में जब जाना चरणों में सिर झुकना अरदास तुम लगाना,
खाली हाथ जाओ गये,
झोली भर के लाओ गये,

ये नीले वाला मेरा संवारा,ये लख दातार दानी बड़ा,
भगतो पे संकट ये पल में हरे और बेसहारो पे किरपा करे,
गाथा उन्हें बताना दुखड़ा उन्हें सुनाना फिर चाहे जो भी पाना,
खाली हाथ जाओ गये,
झोली भर के लाओ गये,

मस्ती भरा आया फागुन होली खेले गे राधा रमन,
आउ भक्तो कर लो तयारी भर भर के लाऊ पिचकारी,
होली का ज़माना कान्हा को रंग लगाना मौका ये न गवाना,
खाली हाथ जाओ गये,
झोली भर के लाओ गये,

Leave a Reply